सीमापुरी में पुलिस वाहन पर पथराव करने के मामले में दो महिलाओं समेत 10 गिरफ्तार


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। दिल्ली के शाहदरा के सीमापुरी इलाके में एक अक्तूबर को पुलिस वाहन पर पथराव करने के मामले में दो महिलाओं समेत 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की एक टीम घटना के वक्त मामले की जांच के लिए इलाके का दौरा किया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीमापुरी इलाके में रंगदारी न देने पर बदमाशों ने मीट कारोबारी पर गोलियां चला दी। गोली चलने की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष समेत कई पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे, बदमाश फरार होकर बंगाली झुग्गियों में पहुंच गए। पुलिस वहां पहुंची तो स्थानीय लोगों ने बदमाशों को बचाने के लिए पथराव कर दिया, कई पुलिसकर्मियों पर तलवार से हमला कर दिया। पुलिस के वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस ने किसी तरह मोइदुल नाम के आरोपित को दबोच लिया, बाकी लोग फरार हो गए। इस हमले में थानाध्यक्ष पदम सिंह राणा सहित पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया, प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी।
पुलिस ने बाद में दो महिला समेत नौ आरोपितों को दबोच लिया। पुलिस के अनुसार शिकायतकर्ता शाह आलम पुरानी सीमापुरी के एफ-ब्लाक में मीट की दुकान चलाते हैं। उनके साथ दुकान पर उनके भाई फिरोज आलम भी बैठते हैं। कुछ दिनों पहले फिरोज के पास एक अंजान नंबर से एक काल आया और रंगदारी मांगी। बदमाश ने फिरोज के साथ गाली-गलौज करते हुए कहा कि कारोबार करना है तो रंगदारी देनी होगी। डर से पीडि़त ने फोन काट दिया। शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि शनिवार को तीन बदमाश उनकी दुकान पर पहुंचे। एक बदमाश बाइक पर बैठा रहा और बाकी दो उतरकर दुकान पर आए और गाली-गलौज करके गोलियां चला दी। उन्होंने किसी तरह से नीचे झुककर अपनी जान बचाई। मौके पर भीड़ जुटी तो बदमाश मौके से फरार हो गए। गोली चलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची।
पुलिस को जांच में पता चला बंगाली झुग्गी में रहने वाले बदमाशों ने फायरिंग की है। पुलिस झुग्गी में पहुंची और बदमाशों की तलाश शुरू की। स्थानीय लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव करने के साथ तलवार से हमला कर दिया। सूचना मिलते ही भारी सुरक्षा बल मौके पर पहुंचा। बाद में पुलिस ने रुकसाना, मेहमूदा, इकबाल, हसीबुल,फिरोज, अजय, दाराजुल, मो. मिया और राहुल अमीन को गिरफ्तार कर लिया।