दिल्ली में खौफनाक मर्डरः चाकू से गोद-गोदकर 22 साल की युवती को मार डाला


दिल्ली ब्यूरो। बिंदापुर थाना इलाके में एक युवती की मंगलवार रात चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। युवती को मरा समझकर आरोपी मौके से फरार हो गए। उसी समय एक फूड डिलिवरी बॉय उस इलाके से गुजर रहा था। उसकी नजर जब घायल युवती पर पड़ी तो उसने पुलिस को सूचना दी। जानकारी मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। युवती को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस अब सीसीटीवी के आधार पर आरोपी की तलाश कर रही है।
पुलिस को इस मामले में कई सवालों के जवाब नहीं मिल रहे हैं। पुलिस के सामने सबसे बड़ा सवाल यही है कि हत्या को क्यों अंजाम दिया गया? मृतक महज 22 साल की थी और इवेंट मैनेजमेंट का काम करती थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार, आरोपी युवती के जान-पहचान वाले लग रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, जिस जगह युवती को चाकू से गोदा गया है, वहां सीसीटीवी कैमरे में घटना कैद हो गई है। इसमें नजर आ रहा है कि उसपर एक व्यक्ति चाकू से एक के बाद एक वार कर रहा है। वह उससे बचने के लिए भाग रही थी, लेकिन आरोपी उस पर तब तक वार करता रहा जब तक वह जमीन पर बेसुध होकर गिर नहीं गई। इस दौरान उसपर चाकू से एक दर्जन से अधिक वार किए गए। युवती के परिजनों के अनुसार, देर रात दो बजे पुलिस ने उन्हें यह जानकारी दी। पीड़ित पक्ष का कहना है कि युवती यह कहकर घर से गई थी कि वह एक बर्थडे पार्टी में जा रही है। जैसे ही बर्थडे पार्टी का केक कट जाएगा, वह वापस आ जाएगी। परिजनों के अनुसार, उन्हें यह जरा भी अहसास नहीं था कि वह अब कभी घर नहीं आएगी। देर रात उसके एक जानकार का फोन आया। उसने बताया कि उसके पास युवती का फोन आया था। वह कह रही थी कि उसपर किसी अंकित नाम के लड़के ने पिस्टल तान रखी है। अंकित उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है। इसके बाद फोन कट गया। इससे पहले की परिजन उसे फोन कर पाते उनके पास पुलिसकर्मी पहुंच गए और बताया कि वह घायल हालत में मिली है। परिजन जब मौके पर पहुंचे तो वहां युवती बेसुध जमीन पर गिरी हुई थी। परिजनों का आरोप है कि पुलिस घायल युवती को समय पर अस्पताल लेकर नहीं गई। उसे अस्पताल पहुंचाने में पुलिस ने दो घंटे का समय लिया। घटनास्थल के आसपास रहने वाले लोगों में पुलिस को लेकर नाराजगी है। लोगों के अनुसार, जिस जगह पर युवती हम हमला किया वह डार्क स्पॉट है। वहां अक्सर असामाजिक तत्व एकत्रित होकर हंगामा करते रहते हैं।