परीक्षा में हुए गड़बड़झाले में 3 और पुलिसकर्मी अरेस्ट, पेपर के बदले मांगे थे 15 लाख रुपये


जयपुर। राजस्थान पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) ने मंगलवार को राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा-2021 (रीट) पेपर लीक मामले में कथित अनियमितताओं को लेकर तीन पुलिस कांस्टेबल सहित चार व्यक्तियों को गिरफ्तार किया। यह जानकारी पुलिस ने दी। एक अधिकारिक बयान के अनुसार कांस्टेबल मनीष कुमार शर्मा, परमवीर सिंह, और दिगंबर सिंह के अलावा एक अन्य व्यक्ति जयवीर सिंह को गिरफ्तार किया गया है। इसमें कहा गया है कि एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए कांस्टेबल मनीष कुमार शर्मा को जयपुर कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके अनुसार शर्मा वर्तमान में दौसा रिजर्व पुलिस लाइन में तैनात है और उसने रीट परीक्षा का पेपर उपलब्ध कराने की एवज में 15 लाख रूपये की मांग की थी। बयान के अनुसार आरोपी ने शिकायतकर्ता से दो लाख रुपये अग्रिम में लिये थे।
बयान के अनुसार एसओजी ने धौलपुर पुलिस लाइन में तैनात कांस्टेबल परमवीर सिंह और सवाईमाधोपुर पुलिस लाइन में तैनात दिगंबर सिंह को गिरफ्तार किया है। बयान के अनुसार इसके साथ ही अनियमितताओं में शामिल भरतपुर निवासी और बीएड के एक छात्र जयवीर सिंह को भी गिरफ्तार किया गया है।
एसओजी ने रीट परीक्षा में कथित अनियमिताओं में शामिल 10 लोगों को सोमवार तक गिरफ्तार कर लिया। राज्य में 30,000 से अधिक शिक्षकों की भर्ती के लिए प्रदेशभर में 26 सितंबर को रीट की परीक्षा आयोजित की गई थी। इस परीक्षा में 16.50 लाख अभ्यर्थियों ने नामांकन किया था।