गोरखपुर जेल में भक्ति की बयार, 5 मुस्लिम श्रद्धालुओं समेत 1050 कैदियों ने रखा नवरात्रि का व्रत, किया पूजा-पाठ


गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में नवरात्रि की धूम मंडलीय कारागार में भी देखने को मिल रही है। यहां मंडलीय कारागार में 2300 से अधिक बंदी है, जिसमें से 1050 बंदियों ने नवरात्रि का 9 दिन का व्रत रखा है। यही नहीं बंदियों ने इस बार नवरात्रि की तैयारी भी जेल के अंदर जोर-शोर से की है। यहां बंदियों ने माता का दरबार सजाकर कलश भी स्थापित किया है, जहां पर सुबह-शाम भजन कीर्तन की आवाज पूरे जेल में गूंजती है। बंदियों की श्रद्धा का ख्याल रखते हुए जेल प्रशासन ने भी उनके खाने-पीने का उचित इंतजाम किया है।
गोरखपुर मंडलीय कारागार में अलग-अलग अपराध में बंद बंदियों ने जेल प्रशासन की मदद से कारागार में मां दुर्गा का दरबार सजाया है। यहां प्रतिदिन सुबह–शाम बंदी दुर्गा सप्तशती पाठ, दुर्गा चालीसा और अन्य मंत्रों का उच्चारण भी कर रहे हैं। मंडलीय कारागार में इस समय मां दुर्गा के भक्ति की बयार इस तरह चल रही है कि हर कोई पूजा पाठ में लगा हुआ है। मंडलीय कारागार में बंद पांच मुस्लिम बंदियों ने भी इस बार नवरात्रि का व्रत रखा है। कारागार में 2300 बंदी बंद हैं। जिसमे से 1050 बंदियों ने शारदीय नवरात्र का व्रत रखा है। जेल में हर वर्ष 800 से ज्यादा बंदी नवरात्र व्रत रहते हैं। इस बार इनकी संख्या और बढ़ गई है। व्रत रहने वाले बंदियों में 50 से अधिक महिला बंदी भी शामिल हैं। जेल प्रशासन इन्हें प्रतिदिन सुबह—शाम फलाहार में दूध,केला,सेंधा नमक, उबला आलू देता है और साथ ही पूजन सामग्री भी उपलब्ध कराता है।
जेल प्रशासन के अनुसार 2017 में 510 बंदियों, 2018 में सात मुस्लिम व एक विदेशी समेत 360 बंदियों, 2019 में पांच मुस्लिम समेत 850 बंदियों और 2020 में करीब 900 बंदियों ने व्रत रखा था। इस संबंध में जेलर प्रेम सागर शुक्ला ने बताया कि जेल में इस बार 1050 बंदी नवरात्र व्रत हैं। मां का दरबार भी सजाया गया है। बंदियों को पूजन सामग्री व फलाहार उपलब्ध कराया जा रहा है।