आगरा में डेंगू से 5 और बच्चों की मौत, 5 अस्पताल सील, फिरोजाबाद में भी नहीं थम रहा वायरल का प्रकोप


आगरा। उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल की रफ्तार नहीं थम पा रही है। आगरा में डेंगू और वायरल बुखार से पांच और बच्चों की मौत हो गई। फिरोजाबाद में बुधवार को मेडिकल कॉलेज में 77 और शिकोहाबाद अस्पताल में 80 नए मरीज भर्ती किए गए। गाजियाबाद में 15 नए डेंगू के मरीज सामने आए हैं। आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग में भर्ती आठ मरीजों में मंगलवार को डेंगू की पुष्टि हुई है। बाल रोग विभाग में 4 बच्चे डेंगू के संदिग्ध है। बाह तहसील में डेंगू और वायरल बुखार से कई गांव चपेट में हैं, जिसके चलते दर्जनों बच्चों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग ने देहात में डेंगू से हो रही मौतों को लेकर ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू कर दी है। फतेहाबाद में सीएमओ के निर्देशन पर एसीएमओ और एसडीएम की टीम की ओर से झोलाछाप डॉक्टरों और अस्पताल के संचालकों पर कार्रवाई की गई। पांच क्लीनिक और अस्पताल को सील किया गया है। तीन क्लीनिक को नोटिस भी दिया गया। डेंगू और वायरल से हो रही मौतों के बीच झोला छाप और अवैध अस्पतालों पर मंगलवार को सीएमओ डॉ. अरुण श्रीवास्तव के निर्देशन में कार्रवाई की गई। तहसील फतेहाबाद में डॉ. अशोक चौहान क्लीनिक,डॉ. गुड्डू क्लीनिक, श्रीराम हॉस्पिटल, बाला जी हॉस्पिटल एंड क्रिटिकल केयर सेंटर को सील किया गया। सीताराम डेंटल एंड आई केयर सेंटर, एसएन पॉली क्लीनिक और श्रीराम अस्पताल के मैनेजरो को नोटिस दिया गया है। सीएमओ में उन्हें अपने दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे।
फिरोजाबाद में बुधवार को मेडिकल कॉलेज में 77 और शिकोहाबाद अस्पताल में 80 नए मरीज भर्ती किए गए। शिकोहाबाद संयुक्त अस्पताल विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र से जुड़ा है, जिसमें 100 मरीजों के वॉर्ड में 185 मरीज भर्ती हैं, जबकि मेडिकल कॉलेज में मरीजों की संख्या घटकर 250 रह गई है।
गाजियाबाद में बुधवार को डेंगू के 15 नए मरीज सामने आए। जिसके बाद जिले में मरीजों की कुल संख्या 405 तक पहुंच गई है। फिलहाल सरकारी में 3 मरीज और प्राइवेट अस्पतालों में 65 मरीजों का इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि सभी की हालत स्थिर है। बुधवार को वसुंधरा, नंदग्राम, मकनपुर, गोविंदपुरम क्षेत्र से मरीज मिले हैं।