बांग्लादेशी गैंग का सरगना हमजा पुलिस मुठभेड़ में ढेर, 50 हजार का था इनाम, 5 बदमाश फरार


लखनऊ,(उत्तर प्रदेश)। राजधानी लखनऊ के चिनहट थाना इलाके में बांग्लादेशी डकैतों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गई। इस दौरान 50 हजार का इनामी बदमाश ढेर हो गया। वहीं 5 बदमाश फायरिंग करते हुए फरार हो गए। एनकाउंटर में 3 पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। हफ्ते भर पहले भी बांग्लादेशी डकैतों और लखनऊ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी, जिसमें कई डकैतों के फरार होने के साथ 3 लोग गिरफ्तार किए गए थे। मामला लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में विपुल खंड स्थित रेलवे ट्रैक के पास का है। जहां रविवार देर रात लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की टीम और बांग्लादेशी डकैतों के बीच बड़ी मुठभेड़ हो गई। मौके पर पहुंचे लखनऊ के जेसीपी क्राइम नीलाब्जा चौधरी ने बताया कि देर रात 6 बदमाशों को रेलवे ट्रैक के पास घूमता बताया गया। पुलिस टीम के पहुंचते ही फायरिंग शुरू हो गई। देर तक बदमाशों और पुलिस के बीच हुई फायरिंग में एक बदमाश मारा गया।
साथ ही डीसीपी पूर्वी की क्राइम टीम के हेड कांस्टेबल नरेंद्र बहादुर सिंह, कांस्टेबल राम निवास और मुकेश चौधरी भी मुठभेड़ के दौरान घायल हो गए। सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि घायल हुए बदमाश की तलाशी ली गई तो एक आईडी कार्ड बरामद हुआ, जिससे उसकी पहचान बांग्लादेश निवासी हमजा के रूप में हुई। उन्होंने बताया कि हमजा के ऊपर लखनऊ पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित किया था।
बांग्लादेशी डकैतों के साथ मिला कनेक्शन
जेसीपी क्राइम नीलाब्जा चौधरी ने बताया कि एक सप्ताह पहले बांग्लादेशी डकैतों और पुलिस टीम की मुठभेड़ हुई थी, जिसमें कई बदमाश फरार होकर लखनऊ से बाहर चले गए थे। वहीं, पकड़े गए डकैतों से हुई पूछताछ में हमजा का नाम सामने आया था। इतना ही नहीं, हमजा इस बांग्लादेशी गैंग का मास्टर माइंड भी बताया जा रहा है। रविवार देर रात हुई मुठभेड़ के दौरान हमजा के ढेर होते ही अन्य बदमाश फायरिंग करते हुए फरार हो गए। जिनकी तलाश के लिए टीमें लगा दी गयी है। पुलिस टीम ने बताया कि घायल हुए बांग्लादेशी डकैत के पास से 1 तमंचा,1 पिस्टल व बांग्लादेशी मुद्रा बरामद की गई है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर