गैंगस्टर सोनू दरियापुर के घर में छिपे थे 5 बदमाश, पकड़े गए लोगों में एक नैशनल लेवल का किकबॉक्सर


नई दिल्ली। नैशनल लेवल के किकबॉक्सर समेत पांच कुख्यात बदमाशों को आउटर नॉर्थ जिले के स्पेशल स्टाफ ने गिरफ्तार किया है। वे रोहतक में विरोधी गैंग के एक बदमाश की हत्या के इरादे से बवाना में इकट्ठा हुए थे। गैंगस्टर सोनू दरियापुर के घर में छिपे पांच बदमाशों में तीन मेरठ के गैंगस्टर शारिक चौधरी के बेटे हैं।
पुलिस ने बदमाशों के कब्जे से तीन पिस्टल और पंद्रह कारतूस बरामद किए हैं। बदमाशों की गिरफ्तारी से नरेला में हुई एक युवक की हत्या और पहाड़गंज में फायरिंग के मामले को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। सभी मंडोली जेल में बंद सोनू दरियापुर और भोंडसी जेल में बंद सुमित उर्फ पलोत्रा के गैंग के लिए काम करते हैं।
डीसीपी ब्रिजेंद्र कुमार यादव के मुताबिक, एसीपी रिछपाल सिंह के सुपरिवजन में एसआई जयवीर, संदीप, हेड कॉन्स्टेबल नरेंद्र, वेद प्रकाश, नीरज, संदीप, दिनेश, कॉन्स्टेबल सचिन, मनोज, राकेश, संजय, शब्बीर, उदय, विकास, नरेंद्र, मुकेश, दीपांशु, महिला कॉन्स्टेबल पिंकी ने आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों की पहचान नरेला निवासी सन्नी उर्फ मकोड़ा, बरवाला निवासी अमित कुमार, सेक्टर-12 शास्त्री नगर, मेरठ यूपी निवासी मोहम्मद उमर, अब्दुल रज्जाक और अब्दुल रहमान के रूप में हुई है।
अमित नैशनल किक बॉक्सर रह चुका है। मेरठ के रहने वाले तीनों बदमाश गैंगस्टर शारिक के बेटे हैं। पुलिस टीम को सूचना मिली कि कुछ बदमाश बवाना स्थित गैंगस्टर सोनू दरियापुर के घर में छिपे हुए हैं। इस सूचना को पुख्ता करने के बाद पुलिस टीम ने सोनू दरियापुर के घर पर दबिश दी। वहां छिपे बदमाशों ने भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस टीम ने उन्हें दबोच लिया।
पूछताछ में पता चला कि सन्नी नरेला में अपने एक रिश्तेदार की हत्या में शामिल है। अमित सन्नी के साथ नरेला में हत्या और पहाड़गंज इलाके में गोलीबारी के मामले में वांछित है। अमित शाहबाद डेरी में हत्या के मामले में परोल पर जेल से बाहर आया था। शारिक के बेटों की नौचंदी मेरठ में हत्या की कोशिश के एक मामले में तलाश है। रोहतक में विरोधी गैंग के एक बदमाश की हत्या के लिए सुमित ने ही हथियार मुहैया करवाया था और सभी बदमाश उसके इशारे का इंतजार कर रहे थे।