कानपुर में मिट्टी का टीला धंसने से 9 लोग दबे, सास-बहू जिंदा दफन, रेस्क्यू कर निकाले गए शव


कानपुर ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक दर्दनाक घटना प्रकाश में आई है। बुधवार सुबह मिट्टी का टीला धंसने से 9 लोग दब गए, जिसमें सास-बहू ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वहीं पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से जेसीबी से रेस्क्यू कर 7 लोगों को बाहर निकाला। सभी घायलों को घाटमपुर सीएचसी में भर्ती कराया गया है। सजेती थाना क्षेत्र स्थित नखतमऊ में ग्रामीण घरों की पुताई के लिए और दीवारों में मिट्टी लगाने के लिए टीले से मिट्टी की खुदाई कर रहे थे। चिकनी मिट्टी का टीला गुफानुमा बन गया था। इस दौरान मिट्टी का टीला भरभरा कर धंस गया। गांव की रहने वाली रामादेवी (70), अनीता (42), टिकवापुर निवासी सितलू (70), सुकुर्ति (50), राधा (40), भोलादेवी (62), गुड़िया (35), अरविंद (13), चिल्लू (18) मिट्टी के मलबे में दब गए थे।
इस दर्दनाक घटना के बाद चारो तरफ चीखपुकार मच, ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस और प्रशानिक अफसर मौके पर पहुंच गए। एसडीएम अरुण श्रीवास्तव के मुताबिक दीपावली त्योहार की वजह से महिलाएं लिपाई-पुताई के लिए टीले से मिट्टी निकाल रहीं थीं। सुरंग बन जाने के कारण मिट्टी धंस गई, जिसमें आधा दर्जन से अधिक लोग दब गए थे। तीन लीगों को हैलट अस्पताल रेफर किया गया है। जेसीबी से खोदाई कर देख लिया गया है, अब घटना स्थल पर कोई नहीं है।