रिटायर्ड एसडीएम की जमीन पर दबंग ने किया कब्जा, शिकायत पर पड़ोसी विधवा को दे रहे धमकी


महोबा,(उत्तर प्रदेश)। योगी सरकार की सख्ती के बावजूद दबंगों की दबंगई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। प्रशासनिक अधिकारी के पद से रिटायर्ड एक अधिकारी के पैतृक आवास पर दबंग ने कब्जा कर लिया है। अधिकारी की वृद्ध विधवा पत्नी अपनी जमीन पर कब्जा वापस पाने के लिए दर-दर भटकने को मजबूर है।
महोबा जिले के चरखारी कोतवाली के मूल निवासी घासीराम राठौर उपजिलाधिकारी ( एसडीएम ) पद से रिटायर्ड हुए थे। घासीराम राठौर का पैतृक मकान चरखारी के टिलवापुरा में है। रिटायर्ड होने के बाद एसडीएम राठौर परिवार के साथ बांदा में शिफ्ट हो गए। कुछ समय बाद रिटायर्ड एसडीएम घासीराम राठौर का निधन हो गया। दूसरी ओर चरखारी में उनके पैतृक निवास पर उनके दबंग पड़ोसी मनोज खटीक ने कब्जा कर लिया।
पूर्व प्रशासनिक अधिकारी घासीराम राठौर की पत्नी को बांदा में सूचना मिली कि पड़ोसी ने उसके चरखारी स्थित पैतृक मकान पर कब्जा कर लिया है। पड़ोसी मकान की दीवार तोड़कर निर्माण भी करा रहा है। उसने छत भी बनवा ली है। आराधना राठौर ने सभासद खेमचंद साहू तथा राकेश घोष को भी पूरे मामले से अवगत कराया। उन्होंने जमीन पर कब्जा वापस दिलाने के लिए चरखारी कोतवाली, लेखपाल और एसडीएम चरखारी से भी प्रार्थना पत्र देकर गुहार लगाई।
दबंग पड़ोसी ने अब रिटायर्ड एसडीएम की वृद्ध विधवा पत्नी आराधना को धमकाना शुरू कर दिया है। एसडीएम की पत्नी ने कब्जा हटवाने के लिए शिकायतें की, उससे दबंग पड़ोसी बौखला गया है। चरखारी कोतवाली प्रभारी के अनुसार दोनों पक्षों से स्वामित्व के कागजात प्रस्तुत करने को कहा गया है। जांच के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।