तालिबान के मददगार आईएसआई चीफ को बड़ा इनाम, बनाया जा सकता है पाक सेना प्रमुख


इस्लामाबाद,(एजेंसी)। पाकिस्तान में आर्मी चीफ बदलने वाला है और उस क्रूर को ये जिम्मेदारी दी जाने वाली है जिसे अफगानी पंजशीर का कसाई कहते हैं। उसे तालिबान का मददगार माना जाता है और जनरल फैज हमीद के नाम से पहचाना जाता है। तालिबान के मददगार आईएसआई चीफ फैज हमीद को बड़ा ईनाम मिल सकता है। उन्हें पाकिस्तान आर्मी का नया जनरल बनाया जा सकता है। पंजशीर में हिंसा फैलाने में तालिबान का मददगार माना जाता है।
पाकिस्तान ने अपनी बदनाम खुफिया एजेंसी आईएसआई के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद को बाजवा का वारिश बनाने के लिए एक अहम कदम उठाया है। एक बहुत बड़ी ट्रांसफर-पोस्टिंग देखने को मिली है। फैज हमीद को ट्रांसफर करके 11 कोर कमांडर नियुक्‍त किया गया है।  जिसके बाद अक्टूबर महीने में एक कोर कमांडर काउंसिल की बैठक में जनरल बाजवा की रिप्लेसमेंट को लेकर फैज हमीद का नाम आगे किया जा सकता है। बता दें कि जनरल बाजवा का कार्यकाल अगले साल समाप्त हो रहा है। वहीं एक सेना प्रमुख बनने के लिए कोर कमांडर विंग का बनना जरूरी है। इसलिए एक साल पहले इस तरह के कदम उठाए गए हैं। 
ये वही हमीद है जिसने अफगानिस्तान के पंजशीर में नरसंहार को करवाया। कई बार साबित हो चुका है कि आईएसआई आतंकियों को पनाह देती है। खतरनाक हथियार चलाने की ट्रेनिंग देती है। इतना ही नहीं भारत में आतंकी हरकतों के लिए दहशतगर्दों को तैयार करती है। सूत्रों की मानें तो फैज अहमद के संबंध कई खतरनाक आतंकी संगठनों से हैं। जनरल फैज के दबाव में ही सिराजुद्दीन हक्‍कानी को अफगानिस्‍तान का गृहमंत्री बनाया गया है।  किस्‍तानी मीडिया के मुताबिक जनरल फैज और उनकी 'जनरल रानी' घर पर आपत्तिजनक हालत में थे और इसी दौरान आईएसआई चीफ की बीवी आ गईं और उन्‍होंने रंगे हाथ पकड़ लिया। आईएसआई चीफ की करतूत देख उनकी बीवी इतना गुस्‍सा हो गईं कि उन्‍होंने गोली चला दिया। इस घटना को दबाने का प्रयास किया गया लेकिन मीडिया में आ गया।