पुल बना नहीं, लेकिन विधायक की होर्डिंग में उस पर चलने भी लगे लोग


बस्ती,(उत्तर प्रदेश)। बस्ती से विधायक का क्षेत्र में विकास का एक दावा क्षेत्र की जनता के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। कुदरहा ब्लाक के सेल्हरा- ठोकवा पुल का निर्माण हुआ ही नहीं हुआ और महादेवा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक रवि सोनकर ने होर्डिंग्स में पुल निर्माण का दावा कर दिया। जब क्षेत्र की जनता ने विधायक के 'हवाई पुल' को देखा तो उनके बीच इसकी चर्चा शुरू हो गई। लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर धरातल पर यह पुल कब दिखेगा?
होर्डिंग्स में सेल्हरा- ठोकवा सेतु धरातल पर अभी निर्माणाधीन हैं, लेकिन विधायक की लगाई गई होर्डिग्स में न केवल पुल बनकर तैयार है बल्कि उस पुल से लोगों की आवाजाही भी दर्शा दी गई है। विधायक जी की होर्डिंग्स पर जब विधानसभा की जनता की नजर पड़ी तो वे आश्चर्यचकित रह गए क्योंकि पुल अभी निर्माणाधीन है। बिना पुल का निर्माण कार्य पूरा हुए और आवागमन शुरू हुए उसे पूरा दिखाकर विधायक जी ने वाहवाही लूटी तो मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। लोग उन्हे ट्रोल करने लगे। इसके बाद विधायक जी बैकफुट पर आ गए। उन्होंने कहा कि जो भी होर्डिंग्स मेरे क्षेत्र में लगी है उसमें पुल को गतिमान अवस्था में दिखाया गया है और जल्द ही यह पुल लोगों को समर्पित भी कर दिया जाएगा।
सपा के कार्यकाल में पास हुआ था सेल्हरा- ठोकवा पुल
बता दें कि 2018-19 में सेल्हरा-ठोकवा पुल का कार्य शुरू हुआ, निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है, लेकिन आगामी विधान सभा चुनाव की आहट में विधायक ने क्षेत्र में कराए गए विकास कार्यो को गिनाना शुरू कर दिया। यह भी नहीं सोचा कि जिस विकास कार्य को वे गिना रहे हैं धरातल पर उसके दिखाई न देने का क्या परिणाम होगा। जैसे ही विधान सभा क्षेत्र में लगी होर्डिंग्स पर लोगों की निगाह पड़ी वे उनके निशाने पर आ गए।
कुदरहा ब्लाक के ठोकवा, सेल्हरा सहित अनेक गांव के लोगों को मुख्यालय,ब्लाक मुख्यालय पर आने जाने और मरीजों को अस्पताल ले जाने में होने वाली समस्या को देखते हुए पुल बनवाने की मांग की गई। वर्ष 2016 में सपा सरकार में विधायक पूर्व राज्यमंत्री रामकरन आर्य ने समस्या का संज्ञान लिया। सरकार ने पुल पास भी कर दिया लेकिन 2017 में हुए चुनाव में इस क्षेत्र का नेतृत्व बदल गया। भाजपा से रवि सोनकर विधायक चुने गए। इसके बाद 2018-19 में सेल्हरा से ठोकवा पुल का कार्य शुरू हुआ। अभी कार्य चल ही रहा है और विधायक जी ने धरातल पर न सही अपने चुनावी होर्डिंगों मे पुल पर ग्रामीणों का आवागमन भी दिखा दिया।
पूर्व विधायक रामकरन आर्य के बेटे विजय विक्रम आर्य ने कहा कि जब मेरे पिता क्षेत्र के विधायक थे तो बड़ी मशक्कत के बाद इस पुल को मुख्यमंत्री से पास कराकर शुरू कराया था, लेकिन भाजपा की सरकार पुल पास होने के बाद भी अभी तक पुल का निर्माण पूरा नहीं करा करा पाई है और विधायक जी झूठी वाहवाही लूट रहे हैं। पूर्व विधायक दूधराम ने भाजपा विधायक की होर्डिंग्स पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी के नेता सिर्फ जुमलेबाजी में भरोसा करते है। बिना काम कराए होर्डिंग लगवा लगवाकर उस पर आवागमन दर्शाना क्षेत्र की जनता के साथ धोखा है।
भाजपा विधायक की सफाई, जल्द ही जनता को समर्पित होगा पुल
वहीं विधायक रवि सोनकर ने होर्डिंग्स के सवाल पर कहा कि पुल को गतिमान अवस्था मे दिखाया गया है और जल्द ही यह पुल लोगों को समर्पित भी कर दिया जाएगा। यह पूछने पर कि होर्डिंस में आखिर गतिमान शब्द का प्रयोग क्यों नही किया गया वे चुप्पी साध गए।