प्रयागराज डबल मर्डर का खुलासा, बहू ने ही रची थी सास और ननद की हत्या की साजिश


प्रयागराज,(उत्तर प्रदेश)। प्रयागराज के औद्योगिक इलाके में डबल मर्डर का खुलासा पुलिस और एसओजी टीम ने शनिवार को कर दिया है। सास और ननद की कातिल बहू को एसओजी टीम ने कत्ल में शामिल दो आरोपियों के साथ अरेस्ट कर लिया है। इसके अलावा पुलिस और एसओजी की टीम ने कत्ल में इस्तेमाल हुए हथियार को भी बरामद किया है। बीते 12 अक्टूबर को प्रयागराज के यमुना पार इलाके के गांव में मां-बेटी की गला रेतकर हत्या कर आरोपी मौके से फरार हो गए थे। इस मर्डर मिस्ट्री में पुलिस ने गांव के ही 4 लोगों को नामजद आरोपी बनाया था लेकिन इन दोनों के कत्ल के पीछे घर की बहू ही शामिल थी। इसका खुलासा पुलिस ने किया है।
सास-ननद की हत्या के पीछे बहू का हाथ
12 अक्टूबर को प्रयागराज के यमुनापार औद्योगिक थाने इलाके पूरे चक मियां खुर्द मियां पूरा गांव में मां-बेटी की हत्या के पीछे कोई और नहीं बल्कि बहू ही कातिल निकली। जिसका खुलासा पुलिस ने शनिवार को किया है। दरअसल कातिल बहू सलोनी की शादी 3 साल पहले बजरंग के बेटे चंद्रशेखर के साथ हुई थी लेकिन चंद्रशेखर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई हो गई। कुछ दिन तक तो सलोनी अपने ससुराल में रही लेकिन कुछ दिन बाद ही वह ससुराल छोड़ कर चली गई। उस समय ससुराल वालों ने सलोनी की ढाई साल की बेटी को नहीं दिया। वहीं सलोनी ने 3 महीने पहले ही दूसरी शादी कर ली और अब अपनी बेटी को अपने साथ रखना चाहती थी लेकिन सास और ननद बेटी को मां सलोनी से नहीं मिलने देती थीं और न फोन पर बात करने देती थीं। यही वजह थी जो सलोनी ने दो लोगों के साथ मिलकर इस पूरे मर्डर की प्लानिंग बनाकर घटना को अंजाम दिया था।
डबल मर्डर मिस्ट्री की गुत्थी सुलझाते हुए कातिल बहू सलोनी को उसके दो साथियों के साथ अरेस्ट कर लिया है। प्रयागराज यमुनापार एसपी सौरभ दीक्षित ने बताया सलोनी को उसकी बेटी से सास और नंद मिलने नहीं देती थी। इसी वजह से कत्ल किया है। कई साल तक बहू बनकर इस घर में रही थी और अच्छे तरीके से घर के रास्ते को जानती थी। इसलिए परिवार के सोने के बाद पेड़ के रास्ते से कातिलों को घर में जाने को कहा था। एसपी ने यह भी बताया कि पूरे घर को मारने की प्लानिंग थी लेकिन सास और ननद को मारने के बाद ससुर बजरंग को भी घायल कर दिया जिसे मरा समझकर कातिल भाग गए थे।