थाना जीटीबी एनक्लेव पुलिस की तत्परता के चलते लूट की वारदात को अंजाम देने से पहले ही अपराधी हुए गिरफ्तार


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। राजधानी दिल्ली के शाहदरा जिले के थाना जीटीबी एनक्लेव पुलिस टीम ने दो शातिर लुटेरों को गिरफ्तार किया है एवं इनके कब्जे से एक पिस्टल और सात जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार थाना जीटीबी एनक्लेव के एएसआई तिलोकचंद एवं कांस्टेबल महेश गश्त पर थे तभी उन्होंने देखा कि एक मारुति इको कार कस्तूरबा नगर अंडरपास के पास खड़ी है। कार को विवेक विहार के रास्ते में खड़ा किया गया था एवं उसके पास दो संदिग्ध युवक खड़े दिखाई दिए। जैसे ही पुलिस टीम कार के पास गई, तभी कार के पास खड़े दोनों संदिग्ध युवक भागने लगे। पुलिस टीम ने तत्परता दिखाते हुए एक युवक को पकड़ लिया एवं दूसरा युवक भागने में सफल रहा। पुलिस द्वारा तलाशी लेने पर उसके पास से एक पिस्टल एवं सात जिंदा कारतूस बरामद किए गए। पकड़े गए युवक की पहचान बबलू यादव पुत्र शेखर पाल निवासी बागपत के तौर पर हुई है। पकड़े गए युवक ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसके गांव के ही रहने वाले रोहित और कालू नाम के एक लड़के ने उसे अपने साथ एक डकैती में शामिल होने के लिए कहा था एवं एक व्यवसाई के यहां लूट की योजना बनाई थी। बबलू ने बताया कि वह रोहित उर्फ कालू के साथ कस्तूरबा नगर अंडरपास के पास एक काले रंग की मोटरसाइकिल पर आए थे। उनके ही गांव के रहने वाले अनिल उर्फ लीले और टोनी नाम के दो व्यक्ति ओमनी कार में इंतजार कर रहे थे। बबलू ने यह भी बताया कि योजना के अनुसार अनिल को व्यवसाई के दो पहिया वाहन के बारे में इशारा करना था एवं टोनी को मोटरसाइकिल सवार को गिराना था और फिर लूट करनी थी। बबलू के कहने पर अन्य आरोपी टोनी पुत्र राजपाल निवासी बागपत को ही पकड़ लिया गया। आरोपी टोनी ने भी खुलासा किया कि रोहित ने उसे दो लाख देने का वायदा किया था। टोनी की निशानदेही पर दो जिंदा कारतूस और सर्जिकल ब्लेड भी बरामद किया गया। दोनों आरोपियों ने यह भी खुलासा किया कि रोहित और अनिल ने उन्हें हथियार और कारतूस दिए थे। थाना जीटीबी एनक्लेव पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शरू कर दी है एवं बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास भी किए जा रहे हैं। थाना जीटीबी एनक्लेव पुलिस की तत्परता के चलते एक गंभीर अपराध होने से बच गया जो कि एक सराहनीय कार्य है।