बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति ने गणेश शंकर विद्यार्थी को किया नमन


खागा,(फतेहपुर)। बुंदेलखंड राष्ट्र समिति द्वारा देश की स्वतंत्रता के "75वीं वष॔गांठ-अमृत महोत्सव "के अवसर पर निष्पक्ष देव विद्या मंदिर कालेज गुरसंडी में कलम को तलवार बनाकर ब्रिटिश हुकूमत की नींव हिला देने वाले, प्रख्यात पत्रकार, समाजसेवी व महान स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार शिरोमणि गणेश शंकर जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में समिति के केंद्रीय अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय ने विद्यार्थी जी के चित्र पर पुष्प माला, दीप प्रज्वलित कर नमन किया। केंद्रीय अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय ने कहा की  देश के प्रति आपका निःस्वार्थ जीवन संघर्ष युवाओं को सदैव प्रेरित करता रहेगा। समिति के केंद्रीय अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय कई वर्षो से विद्यार्थी जी के पैतृक गांव हथगांव में केंद्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय बनाए जाने की मांग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कर रहे। आज पुनः खून से खत लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से केंद्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय की मांग की।
विधानसभा में उनकी मूर्ति और संसद के केंद्रीय कक्ष में चित्र लगाये जाने , 9 जनवरी 1913 को ‘प्रताप’ अखबार निकला था, इसलिए इस तिथि को राष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस घोषित किया जाए। जिस भवन से प्रताप निकलता था, जीर्णोद्धार के साथ ही उसे राष्ट्रीय स्मारक घोषित किए जाने की मांग भी की गई।  गोष्ठी में पत्रकार शिरोमणि गणेश शंकर विद्यार्थी और उनके द्वारा संस्थापित एवं संपादित ‘प्रताप’ अखबार पर प्रकाश डाला गया। जिन परिस्थितियों में प्रताप का संपादन शुरू हुआ, तब और आज में बहुत अंतर आ गया है। उस समय यह मिशन था। विद्यार्थी जी ने अपना जीवन सद्भाव के लिए समर्पित किया था। उस समय से अब की पत्रकारिता की तुलना नहीं की जा सकती। आजादी के आंदोलन को और गति प्रदान करने करने का कार्य किया था।  कार्यक्रम में समिति के स्वयंसेवक विद्यालय के आचार्य, प्रबंध समिति, सभी विद्यार्थियों उपस्तिथि रहे।  मुख्य रूप से अंकुश , प्रांशु , राकेश कुमार , आशीष , चंद्रिका प्रसाद , निखिल , ऋषभ ,साधना आदि ने विद्यार्थी जिनके जीवन पर प्रकाश डाला।