नोएडा में दलित महिला के साथ गैंगरेप, पीड़ित महिला की बच्चेदानी फटी, तीन बलात्कारियों को अभी तक पकड़ नहीं पाई पुलिस


नोएडा ब्यूरो। नोएडा के जेवर में एक 55 साल की दलित महिला के साथ हथियारों के बल पर बंधक बनाकर गैंगरेप किया गया। गैंगरेप के बाद महिला को बेहोशी की हालत में छोड़कर आरोपी फरार हो गए। अस्पताल में भर्ती महिला की हालत गंभीर बनी हुई हैं। उसकी बच्चेदानी फट चुकी है। उसकी सर्जरी की गई है लेकिन प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग कम नहीं हो रही। डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताई है। इधर पुलिस अभी भी फरार आरोपियों की पकड़ने में नाकाम रही है। रविवार को दलित महिला जेवर एयरपोर्ट के लिए अधिग्रहण की गई जमीन से पशुओं के लिए चारा लेने के लिए गई थी। इसी बीच वहां चार लोग पहुंच गए। महिला को अकेला देखकर चारों ने हथियारों के बल पर उसे बधंक बना लिया और उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। विरोध करने पर महिला के साथ मारपीट की गई। इसी बीच पीड़िता बेहोश हो गई, जिसे देखकर आरोपी घबरा गए और मौके से फरार हो गए। होश आने पर महिला किसी तरह अपने घर पहुंची और घटना की जानकारी परिवारवालों को दी। महिला को उपचार के लिए जेवर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।
जिला अस्पताल में सर्जरी करने के लिए विशेषज्ञों को बुलाया गया। सोमवार दोपहर 2 बजे महिला की सर्जरी हुई। महिला की एक रिश्तेदार ने बताया, 'डॉक्टरों ने कहा कि महिला का गर्भाशय फट गया है और उसकी इमरजेंसी में सर्जरी की गई। उसके शरीर से काफी खून बह गया है।' मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुषमा चंद्रा ने कहा कि महिला के प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोटें आईं हैं। ब्लीडिंग रोकने के लिए कई टांके लगाने पड़े हैं।
महिला के परिवार वालों के मुताबिक, जिस खेत में महिला के साथ रेप और मारपीट की गई थी, उसके आसपास शराब की बोतलें और सॉफ्ट ड्रिंक्स की बोतलें मिली हैं। डीसीपी महिला सुरक्षा वृदा शुक्ला का कहना है कि पीड़िता ने गांव के ही महेंद्र को पहचाना था। जिसकी तलाश में देवदत्त उर्फ देवू को पकड़ा गया। देवदत्त के भी गैंगरेप में शामिल होने की पुष्टि पीड़िता ने की है। जिस आधार पर उसे जेल भेजा गया है। वहीं, मुख्य आरोपी पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस की कई टीमें अलग-अलग छापेमारी कर रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
इधर विपक्ष ने राज्य में महिला सुरक्षा पर सवाल खड़े किए हैं। सोमवार को बसपा प्रमुख मायावती ने इसे लेकर ट्वीट किया और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।