मुंबई से नवी मुंबई के बीच जल्द शुरू होगी वॉटर टैक्सी सेवा


मुंबई ब्यूरो। मुंबई से नवी के बीच सफर करने वालों को जल्द ही यातायात का नया विकल्प उपलब्ध होगा। सड़क और रेल मार्ग के साथ ही अब जल मार्ग का विकल्प भी मुहैया हो जाएगा। जल यातायात शुरू करने के लिए प्रशासन भी पूरी तरह से तैयार है। मुंबई और नवी मुंबई में जेट्टी निर्माण कार्य भी पूरा हो गया है। समुद्र किनारे वॉटर टैक्सी के ठहरने और यात्रियों के जहाज में चढने और उतरने की व्यवस्था करने के बाद मौजूदा समय में सुरक्षा जांच का काम चल रहा है।
फिलहाल नवी मुंबई से साउथ मुंबई तक सड़क मार्ग से पहुंचने के लिए लगभग डेढ घंटे से दो घंटे और रेल मार्ग से करीब 60 मिनट का समय लगता है। जल मार्ग से यह सफर केवल 40 मिनट से 45 मिनट में ही पूरा करना संभव होगा। मैरीटाइम बोर्ड के सीईओ अमित सैनी के मुताबिक, मुंबई और नवी मुंबई में जेट्टी बनाने का काम पूरा कर लिया गया है। कुछ दिन में सुरक्षा इंतजाम का जायजा लेकर वाटर टैक्सी सेवा को शुरू करने की घोषणा होगी। इस रूट पर सेवा शुरू करने के लिए कई जहाज कंपनी विभाग के संपर्क में हैं। 11 अक्टूबर तक सुरक्षा मानकों की जांच रिपोर्ट आने की संभावना है।
12 रूट पर जल मार्ग
सरकार ने मुंबई में 12 स्थानों से वॉटर टैक्सी और 4 स्थानों से रोपैक्स सेवा शुरू करने की योजना बनाई है। हाल ही में राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मुंबई पोर्ट ट्रस्ट और मैरीटाइम बोर्ड के अधिकारियों के साथ इस संदर्भ में बैठक की थी। दिसंबर 2021 तक 12 रूट पर सेवा शुरू करने का आदेश दिया था। यह सेवा शुरू होने से जहां यात्रा करने का समय घटेगा, वहीं ईंधन की बचत भी होगी।
इस मार्ग पर चलेंगी वॉटर टैक्सी, मार्ग समय
  • मुंबई-नेरुल 40 मिनट
  • मुंबई-बेलापुर 45 मिनट
  • मुंबई-वाशी 40 मिनट
  • मुंबई-ऐरोली सवा घंटा
  • मुंबई-रेवास सवा घंटा
  • मुंबई-करंज सवा घंटा
  • मुंबई-धरामत्र डेढ़ घंटा
  • मुंबई-कान्होजी आंग्रे 40 मिनट
  • बेलापुर-ठाणे 20 मिनट
  • बेलापुर-गेटवे 20 मिनट
  • वाशी-ठाणे 15 मिनट
  • वाशी-गेटवे 20 मिनट
  • रोपैक्स के लिए चार नए मार्ग
  • मार्ग समय
  • मुंबई-नेरुल 1 घंटा
  • मुंबई-काशिद 2 घंटा
  • मुंबई-मोरा 30 मिनट
  • करंज-रेवास 15 मिनट