सांड का इलाज करने पहुंचे डॉक्टर और एंबुलेंस ड्राइवर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा


दिल्ली ब्यूरो। बीमार सांड का इलाज कर रहे डॉक्टर को एक शख्स ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। एंबुलेंस के ड्राइवर ने बीचबचाव करने की कोशिश की तो उसे भी बेरहमी से पीटा गया। इतना ही नहीं आरोपी ने एंबुलेंस को भी नुकसान पहुंचाया। पांडव नगर पुलिस ने पीड़ितों के बयान पर मामला दर्ज कर लिया।
पुलिस के अनुसार, पीड़ित राहुल कुमार सिंह परिवार के साथ नोएडा सेक्टर आठ में रहते है। वह कामधेनू ट्रस्ट में बतौर एंबुलेंस ड्राइवर है। शनिवार रात किसी ने ट्रस्ट में कॉल कर बताया कि मयूर विहार में कूकरेजा हॉस्पिटल के पास एक बीमार सांड पड़ा हुआ है। कॉल मिलने के बाद वह ट्रस्ट के डॉक्टर राघव के साथ मौके पर पहुंच गए। यहां पहुंचने के बाद डॉक्टर ने बीमार सांड का इलाज शुरू कर दिया। इसी दौरान एक शख्स वहां पहुंच गया। उसने डॉक्टर से पूछा सांड को क्या दे रहे हो? डॉक्टर ने कहा कि वह बीमार सांड का इलाज कर रहे हैं। इस पर वह शख्स डॉक्टर को गालियां देने लगा और कहने लगा कि वह उनसे बड़ा डॉक्टर है। उसके पास 400 भैंसे है। डॉक्टर ने कहा कि जब वह इतना बड़ा डॉक्टर है तो अब तक इस बीमार सांड का इलाज क्यों नहीं किया? इस जवाब से नाराज होकर उसने डॉक्टर को थप्पड़ मार दिया। राहुल ने जब आरोपी से कहा कि वह डॉक्टर साहब को क्यों मार रहा है, इस पर आरोपी ने उसके ऊपर भी लात-घूंसे बरसाने शुरू कर दिए। मारपीट करने के बाद वह वहां से चला गया।
डॉक्टर ने इसके बाद भी सांड का इलाज करना जारी रखा। कुछ देर बाद वही शख्स गालियां देता हुआ दोबारा वहां पहुंच गया। डर की वजह से दोनों एंबुलेंस में बैठकर वहां से भागने लगे। आरोपी ने एंबुलेंस के शीशे तोड़ दिए। किसी तरह से एंबुलेंस ड्राइवर वहां से जान बचकर भाग गया, लेकिन आरोपी ने डॉक्टर को पकड़कर बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया।किसी ने पुलिस को कॉल कर दी। पुलिस की गाड़ी देखते ही आरोपी वहां से फरार हो गया। पुलिस ने दोनों पीड़ितों को इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां पर उनका इलाज किया गया। पांडव नगर पुलिस ने पीड़ितों का बयान दर्ज कर मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी।