आजमगढ़ में दुष्कर्म के बाद बेटी की मौत, साफ मांगने पहुंचा परिवार , एसपी ने जड़ दिया थप्पड़!


आजमगढ़,(उत्तर प्रदेश)। आजमगढ़ में बुधवार को पुलिस का क्रूर चेहरा सामने आया है। यहां दुष्कर्म पीड़ित मृतक बच्ची के परिवार ने एसपी सुधीर कुमार सिंह की गाड़ी रोकी तो वे तैश में आ गए। एसपी ने परिवार के एक युवक को सरेराह धकियाते हुए कई थप्पड़ जड़ दिए और उसे हिरासत में ले लिया। मामला मीडिया के सामने आने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। अब एसपी सफाई देते नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि युवक गाड़ी के सामने लेट गया था। मामला रौनापार थाना क्षेत्र से जुड़ा है। इस क्षेत्र में रहने वाली एक महिला का आरोप है कि 8 अक्टूबर को दिन में उसकी 8 साल की बेटी दुकान पर सामान लेने जा रही थी। रास्ते में उसके साथ दीपक पासवान ने छेड़खानी की। जिसका बेटी ने विरोध किया। इसी रात में दीपक ने बेटी का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया। अगले दिन सुबह 5 बजे बच्ची गांव के बाहर रोड पर बेहोशी की हालत में मिली। उसे चक्रपाणिपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले को लेकर रौनापार थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी, लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। न्याय दिलाने के बजाय पुलिस से मिलकर चलने का दबाव बनाया गया। इससे नाराज होकर परिवार के लोग ग्रामीणों के साथ बुधवार को एसपी ऑफिस पहुंच गए। मामले में कोई कार्रवाई न होने से आहत परिवार का एक सदस्य एसपी के निकलते ही उनकी गाड़ी के सामने लेट गया। इस बात से नाराज होकर एसपी सुधीर कुमार सिंह गाड़ी से उतर आए और युवक को कई थप्पड़ दिए। अब पीड़ित परिवार का कहना है कि यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो हम लोग सड़क पर उतरेंगे।