वसूली से परेशान हुए दिल्ली पुलिस के कई एसएचओ, शिकायत पहुंची केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पास


दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली पुलिस के एक जॉइंट पुलिस कमिश्नर के खिलाफ लगातार मिल रही शिकातयों के बाद दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने संबंधित अधिकारी के खिलाफ विजिलेंस जांच का आदेश दिया है। जॉइंट पुलिस कमिश्नर के खिलाफ भ्रष्टाचार और जबरन वसूली की कई शिकायतें दर्ज की गई थीं। इस अधिकारी के कार्यक्षेत्र में आने वाले कुछ एसएचओ ने इसकी शिकायत पत्र लिखकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी की थी।
एसएचओ ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि जॉइंट पुलिस कमिश्नर उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजकर हर महीने एक आदमी के माध्यम से हमसे पैसे वसूल करते हैं। अक्सर एसएचओ को उस व्यक्ति से मिलने के लिए मजबूर किया जाता है। अगर हम मना करते हैं, तो वह कहते हैं कि उनकी पत्नी एक आईएएस अधिकारी हैं, जिनके संपर्क शीर्ष स्तर तक हैं।
पहले, वह हमें WhatsApp कॉल करते हैं और फिर एसएचओ को उस व्यक्ति से व्यक्तिगत रूप से मिलने के लिए कहा जाता है। उनका आदमी पैसे मांगने के लिए अलग-अलग जगहों पर एसएचओ से मिलता है। शिकायत में यह भी कहा गया है कि जॉइंट पुलिस कमिश्नर नोएडा में एक घर भी बनवा रहे हैं और वहां एसएचओ से निमार्ण कार्य में उपयोग होने वाला सामान भी भेजने के लिए कहा जाता है।
शिकायतकर्ताओं की ओर से कहा गया है कि शिकायत दर्ज होने के बाद जॉइंट पुलिस कमिश्नर की ओर फोन नहीं आता अब एसओ से यह काम कराना शुरू कर दिया। अब एसओ कॉल करता है और हमसे चीजें मांगता है। हमने पहले भी शिकायत की थी, लेकिन उनके और उनकी पत्नी के संपर्कों के कारण, बच गए और कुछ नहीं हुआ। हम ऐसे भ्रष्ट अधिकारी से आजादी चाहते हैं।