काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर भदोही में बालिका हेल्थ क्लब का हुआ गठन


भदोही,(उत्तर प्रदेश)। काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर भदोही में दिनांक 11 अक्टूबर 2021 को मिशन शक्ति एवं महिला अध्ययन केंद्र की ओर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोपीगंज से आयी चिकित्सा टीम के सौजन्य से महाविद्यालय में बालिका हेल्थ क्लब का गठन हुआ जिसमें बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा मानसी शुक्ला को स्वास्थ्य क्लब का अध्यक्ष बनाया गया । साथ में खुशबू, मनीषा सिंह, अंकिता मौर्य, श्रेया मिश्रा, तनुश्री जायसवाल, पूनम पाल, शिवांगी गौतम को क्लब का सदस्य बनाया गया । और इन्हें निर्देशित किया गया कि अगर महाविद्यालय में किसी छात्रा को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत होती है तो यह टीम उनका प्राथमिक उपचार कर सकती है । इसके लिए चिकित्सकों की टीम ने उन्हें प्रशिक्षित किया।  और कहा  अनुभवी शिक्षिकाओं की देखरेख में कुछ  सामान्य दवाएं वह दे सकती हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से आई 5 सदस्य टीम में डॉ मोहम्मद अनीस ने बताया कि अगर हम किसी को अस्वस्थ हालत में देखते हैं तो हमें उसकी आगे बढ़कर मदद करनी चाहिए । उन्होंने कहा सामान्य बीमारियों के बारे में सभी को जागरूक रहना चाहिए और अगर कोई परेशानी है तो उसका तुरंत प्राथमिक उपचार कर देना चाहिए। उन्होंने बताया बदलते मौसम में संचारी रोग तेजी से फैलते हैं जिनमें डेंगू, मलेरिया, टाइफाइड आदि प्रमुख है सावधान रहकर इन से बचा जा सकता है ।  डॉक्टर नंदलाल प्रसाद ने  प्राथमिक चिकित्सा  विषय पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया मोच आ जाने, जल जाने, शरीर का तापमान बढ़ जाने पर किस तरह से प्राथमिक उपचार करना चाहिए।  सांस लेने में परेशानी हो तो किस प्रकार से कृत्रिम सांस भी जा सकती है, इसका प्रैक्टिकल करके दिखाया । व्यावहारिक रूप से सांस दिलाने के लिए अंकिता मौर्य और मानसी शुक्ला पर प्रयोग किया गया। और कृत्रिम सांस दिला कर  दिखाया। उन्होंने यह भी बताया कि सांप काट लेने पर उस स्थान पर चीरा लगा दें। जिससे जहर निकल जाए । 


 कार्यक्रम में आई टीम में छात्राओं व अध्यापिका ओं का हीमोग्लोबिन टेस्ट किया। और  बताया कि अगर शरीर में रक्त की कमी है तो हरी सब्जियां जरूर खाएं साथ ही आयरन की बहुलता वाले पदार्थ लें। इसके साथ ही आयरन की टेबलेट ली जा सकती है । चिकित्सीय टीम में श्री राम प्रसाद उपाध्याय ,रजनी सिंह एवं राधिका पाल उपस्थित रहे।  बालिकाओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ पी.एन .डोंगरे ने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि बालिकाओं को सबसे ज्यादा कमी प्रोटीन और आयरन की होती है इसके लिए आयरन और प्रोटीन की अधिकता वाले भोज्य सामग्री को भोजन में शामिल करना चाहिए। कार्यक्रम का संयोजन व संचालन डॉक्टर कामिनी वर्मा ने  किया। उन्होंने कहा कि अगर शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है तो बहुत सी बीमारियों से हम ग्रसित होने से बच सकते हैं। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन डॉ शुभा श्रीवास्तव ने किया । इस अवसर पर डॉक्टर ऋचा, डॉ मोनिका सरोज, डॉक्टर किरन शर्मा ,डॉ अर्चना, डॉ प्रीति, डॉ प्रियंका मराल उपस्थित रहीं।