प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेना पड़ा भारी, महिला पुलिसकर्मियों पर लटकी कार्रवाई की तलवार!

 

लखनऊ। यूपी सरकार ने 4 लोगों के साथ प्रियंका गांधी को अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मिलने जाने की अनुमति दे दी गई है। वहीं, इस पूरे घटनाक्रम में सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी के साथ कुछ महिला पुलिस कर्मियों की सेल्फी तेजी से वायरल हो रही है। मामले में लखनऊ पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने महिला पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं। लखनऊ पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि प्रियंका गांधी को 4 लोगों की टीम के साथ आगरा जाने की अनुमति दी गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मियों के सेल्फी फोटो मामले में जांच के निर्देश दिए गए हैं। फोटो के माध्यम से पहचान की जा रही है।
प्रियंका गांधी अरुण की पुलिस कस्टडी में मौत मामले को लेकर आगरा जाकर पीड़ित परिवार से मिलना चाहती थीं, लेकिन आगरा एक्सप्रेस-वे के एंट्री टोल पर प्रियंका गांधी को पुलिस ने रोक लिया था। इससे नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस में तीखी नोकझोंक हो गई थी। उसी के बाद लखनऊ पुलिस प्रियंका गांधी को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन ले आई थी। जहां करीब घंटे तक रोकने के बाद प्रियंका को 4 लोगों के साथ आगरा जाने के लिए अनुमति दे दी गई। फिलहाल प्रियंका पुलिस लाइन से निकल कर कौल हॉउस पहुंची। जहां से प्रियंका अरुण वाल्मीकि के परिजनों से मुलाकात करने देर शाम आगरा के लिए रवाना हो गई हैं।
बता दें कि आगरा के थाना जगदीशपुरा में मालखाने से 17 अक्टूबर को 25 लाख रुपये गायब हुए थे। इसके बाद पुलिस ने थाने में आने वाले सफाई कर्मी अरुण को हिरासत में लिया था। जहां मंगलवार देर रात उसकी तबीयत खराब हुई और मौत हो गई। मां कमला देवी का कहना है कि पुलिस वालों ने चोरी का आरोप लगाते हुए पूरे परिवार को उठा लिया और उनकी पिटाई लगाई।