मुरादाबाद में बिजली कनेक्शन नहीं मिलने पर धरने पर बैठे थे रामलीला के कलाकार, अब जनरेटर से होगी प्रकाश व्यवस्था


मुरादाबाद,(उत्तर प्रदेश)। मुरादाबाद में 'राम - जानकी' हाथों में मोमबत्ती लेकर धरने पर बैठे तो अफसरों में खलबली मच गई। नगर निगम के अफसर रामलीला मंचन में प्रकाश व्यवस्था के लिए जनरेटर लेकर पहुंच गए। दरअसल बिजली कनेक्शन नहीं मिलने की वजह से दसवां घाट में रामलीला का मंचन नहीं हो पा रहा था।
अफसरों से बार- बार कहने के बाद भी किसी ने नहीं सुना तो कलाकार मंचन छोड़कर मंच पर धरना देकर बैठ गए थे। रामलीला कमेटी के पदाधिकारियों ने कलाकारों के साथ मंच पर मोमबत्ती लेकर प्रदर्शन किया था। हाथों में मोमबत्ती लिए 'राम - जानकी' की तस्वीरें और वीडियो सामने आए तो मुरादाबाद के अफसरों की फजीहत शुरू हुई। दसवां घाट रामलीला कमेटी के अध्यक्ष यथार्थ ने बताया कि मंगलवार काे नगर निगम के सहायक अभियंता जनरेटर लेकर दसवां घाट पहुंचे। उन्होंने कहा कि रामलीला मंचन के दौरान जनरेटर और इसके तेल की व्यवस्था नगर निगम की ओर से रहेगी। यथार्थ ने बताया कि अधिकारियों ने कागजों पर साइन कराए तो पता चला कि रिकाॅर्ड में कई सालों से जनरेटर चला आ रहा है। रिकॉर्ड में दर्ज है कि दसवां घाट समेत शहर के प्रमुख रामलीला स्थलों पर मंचन के दौरान प्रकाश व्यवस्था के लिए नगर निगम की ओर से जनरेटर लगाया जाएगा। इसके बावजूद अधिकारियों ने 6 अक्तूबर से उन्हें जनरेटर उपलब्ध नहीं कराया था।
रामलीला कमेटी के अध्यक्ष यथार्थ ने बताया कि जनरेटर मिलने के बाद उन्होंने धरना खत्म कर दिया है। कलाकार रात को 8 बजे ये रामलीला का मंचन करेंगे। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को इस बात की भी जांच करनी चाहिए कि रिकॉर्ड में दर्ज होने के बावजूद उन्हें जनरेटर पहले से क्यों नहीं दिया गया।