गैर-कश्मीरियों की हत्याएं,डरे-सहमे मजदूरों के परिवारों का पलायन, आतंकियों को ठिकाने लगाने के लिए कश्मीर पहुंची स्पेशल ऑपरेशन टीम



श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार को आतंकवादियों ने दो गैर-स्थानीय मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी। बीते 15 दिनों के अंदर आतंकियों ने 13 आम नागरिकों को निशाना बनाया है। वहीं 24 घंटे से भी कम समय में गैर-कश्मीरी मजदूरों पर यह तीसरा हमला है। गैर-स्थानीय मजदूरों और कामगारों ने कश्मीर से पलायन शुरू कर दिया है। वहीं गृह मंत्री से एक स्पेशल टीम ऐक्शन के लिए कश्मीर भेजी है। शनिवार की शाम को बिहार के एक रेहड़ी-पटरी वाले और उत्तर प्रदेश के एक बढ़ई की आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस घटना के कुछ घंटों के बाद ही दो और बिहारी मजदूरों को निशाना बनाया गया।
कश्मीर पहुंची स्पेशल टीम
कश्मीर में हो रही इन हत्याओं को लेकर पूरे देश में गुस्सा है। इधर गृह मंत्री अमित शाह ने स्पेशल ऑपरेशन के लिए एक टीम कश्मीर भेजी है। स्पेशल टीम यहां पर आतंक फैला रहे आतंकियों का खात्मा करेगी। स्पेशल टीम दिल्ली से कश्मीर पहुंच चुकी है।
राज्यों के लिए पलायन शुरू
ताबड़तोड़ हत्याओं से दहले नॉन-कश्मीरियों ने घाटी छोड़ना शुरू कर दिया है। लोगों में दहशत है। रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और जगह-जगह पर मजदूर समूहों में अपने गृह राज्य के लिए रवाना होना शुरू हो गए हैं। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों के लोगों की भीड़ पलायन करती नजर आ रही है।
गैर-स्थानीय मजदूरों को सुरक्षा देने के निर्देश
इधर सभी जिला पुलिस प्रमुखों को मेसेज भेजा गया है कि वह गैर-कश्मीरी लोगों को सुरक्षा दें। ऐसे गैर स्थानीय मजदूरों को तत्काल नजदीकी पुलिस थाने या केंद्रीय अर्धसैनिक बल या सेना के प्रतिष्ठानों में लाया जाए ताकि उनकी जानमाल की सुरक्षा की जा सके। गैर-स्थानीय मजदूरों की सुरक्षा के लिए दस जिलों को भेजे गए निर्देश में लिखा है कि इस मामले को अत्यंत गंभीरता से लें।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर