अनाज कला से उकेरी राम जानकी और हनुमानजी की कलाकृति, कानून मंत्री ने किया लोकार्पण


अयोध्या,(उत्तर प्रदेश)। मध्य प्रदेश के हरदा जिले के 60 कलाकारों की टीम ने अयोध्या के अवध इंटरनेशनल स्कूल में अपनी अनूठी कला का प्रदर्शन शनिवार को किया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने फीता काटकर किया। उन्होंने इस अवसर मध्य प्रदेश की अनूठी कला की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि अनाज की कला के कलाकारों को यूपी सरकार मदद करने के साथ उन्हे सम्मानित भी करेगी। इस कला के प्रसार के लिए भी सरकार प्रोत्साहित करेगी। शनिवार को मध्य प्रदेश के संस्कार भारती के संगठन मंत्री प्रमोद झा ने कहा कि पीएम मोदी का अनाज से दुर्लभ चित्र बनाकर कला के प्रशिक्षक सतीश गुर्जर ने हमें आकर्षित किया। जिसे देख कर हमने अयोध्या के दीपोत्सव के अवसर पर इसको आयोजित करने का कार्यक्रम बनाया है। जिसमें एमपी के कृषि मंत्री कमल पटेल ने भी पूरा सहयोग किया। हम इस कला को पीएम मोदी तक पहुंचाने के लिए राष्ट्रीयता का कार्यक्रम आयोजित करने जा रहे हैं। भोपाल में आयोजन की मंशा बनी है। जिसमें पीएम मोदी के हाथों इस कला के जनक सतीश गुर्जर और उनकी टीम को पीएम के हाथों सम्मानित भी किया जाएगा।
लोकार्पण के बाद इन कलाकृतियों को देखने वालों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। यह कार्यक्रम 10 दिनों तक (दीपोत्सव) तक चलेगा। इस टीम में 45 बालिकाएं और 15 बालक कलाकार शामिल हैं। जिन्होंने 16 अक्टूबर से यहां डेरा जमा कर अपनी कलाकृतियों को अंतिम रूप दिया। इसे मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल के सहयोग से अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम की एक कड़ी के तौर पर पेश किया जा रहा है। अवध इंटरनेशनल स्कूल के ट्रस्टी एवं चेयरमैन अतुल सिंह के मुताबिक वे इस कार्यक्रम को अपने कॉलेज में आयोजित करवा कर पूरी तरह से संतुष्टि का अनुभव कर रहे हैं। अनूठी कला के साथ उनके स्कूल का भी नाम जुड़ गया है। उन्होंने बताया कि उनके स्कूल के बच्चों को भी इस कला से जुड़ाव हो रहा है।

अवध इंटरनेशनल स्कूल आशापुर में 11 हजार वर्ग फीट के भूखंड पर 125 क्विंटल अनाज से हरदा के ये 60 कलाकारों ने श्रीराम-जानकी की छवि उकेरी है। हरदा मप्र के कृषि मंत्री कमल पटेल की कर्मभूमि है। उनके सान्निध्य में सतीश गुर्जर और उनकी टीम द्वारा बनाई गई पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम व स्वामी विवेकानंद जी की अनाज की कलाकृति विश्व रिकार्ड में स्थान पा चुकी है।
नया विश्व रिकॉर्ड बनाने की तैयारी
अब दीपोत्सव में 11 प्रकार के सवा सौ क्विंटल अनाज के दानों से भगवान श्रीराम, माता जानकी और हनुमान जी की भव्य एवं विश्व की सबसे बड़ी कलाकृति बनाकर नया विश्व रिकॉर्ड बनाने की कोशिश हो रही है। यह कलाकृतियां लगभग 10,800 वर्ग फीट क्षेत्र में बनी हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन एमपी के कृषि मंत्री कमल पटेल के सान्निध्य में 'खिलता कमल जनकल्याण सामाजिक सेवा संस्थान' के सहयोग से हुआ। कलाकारों की टीम का नेतृत्व कलाकार सतीश गुर्जर कर रहे हैं।