नॉर्थ एमसीडी का फरमान, अब गर्ल्स स्कूलों में ट्रांसफर नहीं ले सकते मेल टीचर्स


नई दिल्ली। नॉर्थ एमसीडी स्कूलों में पढ़ाने वाले करीब 7,000 से अधिक टीचरों की लिए एजुकेशन विभाग ने नई फरमान जारी किया है। मेल टीचर्स अब एमसीडी के गर्ल्स स्कूलों में ट्रांसफर नहीं ले सकते। उन्हें सिर्फ को-एड स्कूलों या बॉयज स्कूलों में ही पढ़ाना होगा। इतना ही नहीं, कोई भी टीचर एक बार किसी स्कूल में पोस्टिंग होने के 2 सालों तक किसी दूसरे स्कूल में ट्रांसफर नहीं ले सकता। ट्रांसफर के लिए आवेदन करते समय भी अधिकतम 5 स्कूल ही उसे चुनना होगा। ट्रांसफर या पोस्टिंग सिर्फ ऑनलाइन किया जाएगा। ऑनलाइन ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए सोमवार को नए ऑनलाइन माड्यूल का उद्धाटन किया, जिसमें नॉर्थ एमसीडी मेयर, एजुकेशन विभाग के डायरेक्टर रंजीत सिंह, एजुकेशन कमिटी के अध्यक्ष आलोक शर्मा उपस्थित रहे।
एक साल में तीन-4 ट्रांसफर की थी शिकायतें
एमसीडी अफसरों के अनुसार, ऐसी ढेरों शिकायतें हैं कि एमसीडी स्कूलों में पढ़ाने वाले टीचर्स उन आसपास के स्कूलों में ही अपना ट्रांसफर करवाते हैं, जहां वे रहते हैं। एक साल में कई लोग तो तीन से चार बार ट्रांसफर- पोस्टिंग लेते हैं। ढेरों ऐसी आवेदन एजुकेशन विभाग के डायरेक्टर और जोनल अफसरों के पास पेंडिंग रहती हैं।
बायो-मीट्रिक आईडी के जरिए ही आवेदन
इस समस्या को सुलझाने के लिए एमसीडी एजुकेशन विभाग ने ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए ऑनलाइन माड्यूल डिवेलप किया है जिस पर बायो-मीट्रिक आईडी और पासवर्ड के जरिए ऑनलाइन ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए आवेदन किया जा सकता है। किसी भी टीचर की एक बार जिस स्कूल में पोस्टिंग होता है, वह दो साल बाद ही ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए आवेदन कर सकता है। आवेदन के दौरान टीचरों को अपने पसंद के अधिकतम 5 स्कूल ही चुनने का विकल्प होगा। इसके अलावा रिटायरमेंट के एक साल के अंदर कोई टीचर ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए आवेदन नहीं कर सकता।
गर्ल्स स्कूलों में मेल टीचर्स का ट्रांसफर नहीं
ऑनलाइन मॉड्यूल के तहत एमसीडी एजुकेशन विभाग अफसरों ने एक और फरमान जारी किया है। इसके तहत किसी मेल टीचर को गर्ल्स स्कूल में ट्रांसफर या पोस्टिंग नहीं दी जाएगी। मेल टीचर केवल को-एड स्कूलों या फिर बॉयज स्कूलों में ही ट्रांसफर पोस्टिंग ले सकते हैं। ऑनलाइन ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए एमसीडी वेबसाइट पर ई-ट्रांसफर ऑप्शन डिवेलप किया गया है। इस ऑप्शन का लिंक शुक्रवार से एमसीडी वेबसाइट पर दिखेगा।