एक लाख का इनामी फरार आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायन सिंह और चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा गिरफ्तार


गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में कानपुर के व्यापारी की हत्या में आरोपी पुलिसकर्मियों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड में हत्यारोपी बनाए गए एक लाख के इनामी रामगढ़ताल इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार कर पुलिस की काफी हद तक टेंशन भी कम हो गई। पुल‍िस ने रविवार की शाम दोनों को रामगढ़ताल थाने के समीप तिराहे के पास से अरेस्‍ट किया है। दोनों कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में थे लेकिन इस बीच पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। वहीं, गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उन्हें एसआईटी को सौंप द‍िया है।
एसपी सिटी ने की गिरफ्तारी की पुष्टि
एसपी सिटी सोनम कुमार ने बताया कि मनीष गुप्ता हत्याकांड में आरोपी इंस्पेक्टर जेएन सिंह और सब इंस्पेक्टर अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार कर एसआईटी के हवाले कर दिया गया है। दोनों से एसआईटी टीम पूछताछ कर रही है। एसपी सिटी ने बताया कि दोनों कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में थे कि इससे पहले पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। एसपी सिटी का दावा है कि जल्द ही इस मामले के अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
कानपुर एसआईटी का इस मामले में आरोपी पुलिस वालों के रिश्तेदारों को जो इन्हें मदद पहुंचा रहे थे उन्हें भी टारगेट पर लिया था। वहीं, अब तक यूपी एटीएस के चीफ रहे कानपुर कमिश्नर असीम अरुण को देश के बाहर तक छिपे आतंकियों और अपराधियों की हरकतों पर नजर रखकर उन्हें ट्रेस करने का बड़ा अनुभव है। ऐसे में इस पूरे केस की मॉनिटरिंग वे खुद कर रहे हैं और उन्हीं के निर्देश पर एसआईटी, कानपुर पुलिस, गोरखपुर पुलिस और यूपी एसटीएफ काम कर रही है। हालांकि एसआईटी की ओर से बिछाए गए तमाम जाल से अब आरोपी दूर थे। जिन्हें गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया।