एमपी के सरकारी अस्पताल में आयुष्मान कार्ड होल्डर से डॉक्टर ने लिए पैसे


बैतूल,(मध्य प्रदेश)। एमपी के बैतूल में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां आयुष्मान कार्ड रहने के बावजूद डॉक्टर इलाज के लिए एक मरीज से रुपये की मांग कर रहे हैं। इसकी शिकायत के बाद प्रशासन ने जांच का भरोसा दिया है। वीडियो सामने आने के बाद सरकारी दावों की पोल खुल गई है। इस मामले की शिकायत बैतूल कलेक्टर को पहुंची थी, जिसकी जांच सीएमएचओ को सौंपी गई है। दरअसल, बैतूल में आयुष्मान धारी गरीब मरीजों का इलाज जिला चिकित्सालय में पैसे देने के बाद हो रहा है । ऐसा ही एक मामला सामने आया है। पीड़ित मरीज कैलाश बड़ौदे 27 साल के कैलाश भीमपुर विकासखंड के गुरु ढाना गांव के रहने वाले हैं। हर्निया से पीड़ित कैलाश अपना ऑपरेशन कराने के लिए जिला चिकित्सालय में 21 अक्टूबर को भर्ती हुए थे। दर्द से कराहते रहे लेकिन उनका 3 दिन तक ऑपरेशन नहीं हुआ। कैलाश का आरोप है कि डॉक्टर धाकड़ ने हर्निया के ऑपरेशन के लिए उनसे 3000 रुपये मांगे थे।
गरीब होने के कारण वह उनकी डिमांड पूरी नहीं कर पाए लेकिन डॉक्टर धाकड़ ने बोला कि ढाई हजार रुपए लगेंगे और जब तक पैसे नहीं दोगे, तब तक ऑपरेशन नहीं होगा। कैलाश ने अपने चाचा की मदद से 2000 रुपये का इंतजाम किया और डॉक्टर धाकड़ को ऑपरेशन थिएटर में 2000 रुपये दिए, तब उनका 23 अक्टूबर को ऑपरेशन हुआ। इसके साथ ही दवाई भी बाजार से खरदनी पड़ी है। सीएमएचओ ने इसकी पुष्टि की है। अब देखना होगा कि पैसे लेने वाले डॉक्टरों पर क्या कार्रवाई होती है।