'कूद जाऊंगी, मर जाऊंगी लेकिन घर नहीं जाऊंगी', दौड़कर थाने के अंदर पेड़ पर चढ़ने लगी महिला


धनबाद,(झारखंड)। धनबाद जिले में एक थाने में महिला ने पेड़ के ऊपर चढ़ गई और जान देने की बात कहने लगी। पेड़ पर चढ़ी महिला यही कह रही थी- "कूद जाऊंगी, मर जाऊंगी लेकिन घर नहीं जाऊंगी।" घटना की सूचना पर थोड़ी देर में मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद महिला को पेड़ से उतारा।
धनबाद के बाघमारा थाना में एक अजीबोगरीब घटना घटी। थाने पहुंची लक्ष्मी देवी नाम की महिला आचनक आत्महत्या करने का प्रयास करने लगी। महिला आचनक दौड़ते हुए थाना परिसर के अंदर स्थित एक क्वार्टर के समीप आम के पेड़ में चढ़ गई। वह बार कह रही थी कि वो नहीं जीना चाहती, वह आत्महत्या कर लेगी। महिला के ऐलान के बाद थोड़ी देर के लिये अफरा तफरी का माहौल बन गया।
थाना में उपस्थित थाना प्रभारी सूबेदार यादव, अन्य पुलिस कर्मी तथा पुलिस जवान उक्त स्थान पहुंचे। महिला बार बार आत्महत्या करने की बात कहती रही। पुलिस के समझाने के बाद महिला सीढ़ी से नीचे उतरी। फिलहाल महिला और उसका पति थाने में ही है। दरअसल पति पत्नी में विवाद चल रहा है। दोनों का विवाद तलाक तक पहुंच गया है। कोर्ट में सुनवाई चल रही है। बाघमारा थाना क्षेत्र में ससुराल महिला का है। वहीं आत्महत्या का प्रयास करने वाली महिला ने कहा कि जब से शादी हो कर आई है, उसके साथ उसका पति मारपीट करता है।
वहीं महिला के पति शिवजी नोनिया ने कहा कि पत्नी से विवाद चल रहा है। 2007 में शादी हुई थी। तीन बच्चे अपनी मां के साथ नहीं रहना चाहते। उसके ससुराल वाले इसके मास्टरमाइंड हैं। हालांकि विवाद की वजह को बताने से पति ने इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह इसे नहीं बता सकते। यह गुप्त ही रखना चाहेंगे।