ईद उल मिलाद के मौके पर नोएडा में हिंदुस्तान विरोधी व पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए जाने को लेकर विश्व हिंदू परिषद ने की प्रेस वार्ता


नोएडा ब्यूरो।
जैसा की आपको विदित ही है कि गत 19 अक्टूबर 2021 में ईद उल मिलाद के मौके पर कुछ ति पाक परस्त देश विरोधी ताकतों ने हिंदुस्तान विरोधी व पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए थे। इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन को उसी समय कर दी गई थी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्रीमान योगी आदित्यनाथ को व डीजीपी उत्तर प्रदेश को भी ट्वीट द्वारा जानकारी दे दी गई थी। लेकिन आज लगभग 6 दिन गुजर जाने के बाद भी अपराधियों के विरुद्ध कोई खास कार्यवाही नहीं हुई। यहां तक की केस को और शिथिल कर दिया गया है।  अपराध की जिन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत होना चाहिए था उसमें पंजीकृत न करके सामान्य धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने की धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया गया है। जबकि इसके अंतर्गत देशद्रोह की धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया जाना चाहिए था। 8 दिनों में अपराधियों के विरुद्ध कोई खास कार्रवाई नहीं हुई है । इसको लेकर विश्व हिंदू परिषद के वरिष्ठ प्रचारकों व संगठन मंत्रियों के साथ में भी 22 तारीख को एक बड़ी बैठक की गई थी। जिसमें उन्होंने 26  अक्टुबर 2021 को पत्रकार वार्ता के लिए निर्देशित किया था कि अगर इस प्रकरण में पुलिस द्वारा यथोचित कार्रवाई नहीं होती तो पत्रकार वार्ता करके आगे की रणनीति के लिए योजनाएं बनाएं।
विश्व हिंदू परिषद आपके माध्यम से पुलिस प्रशासन से यह मांग करता है।
  • यह कि उक्त दिवस पर पाक परस्त  ताकतों ने देश विरोधी नारे लगाएं थे तो उनके विरुद्ध देशद्रोह का मुकदमा पंजीकृत होना चाहिए था न कि धार्मिक भावनाओं को भड़काने का। 
  • यह की उस कार्यक्रम में लगभग 200 लोगों के भागीदारी रही थी जिसमें से 35 लोगों की सूची स्थानीय लोगों ने पुलिस को उपलब्ध करा दी थी। इसके बावजूद भी मात्र तीन लोगों पर ही कार्रवाई की औपचारिकता हुई। इसमें पुलिस का ढीला रवैया संदेह उत्पन्न करता है। 
  • यह की इस कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा हेतु दो एसएसओ , स्थानीय पुलिस के कई सब इंस्पेक्टर व पीएसी की व्यवस्था की गई थी इसके बावजूद भी वहां पर देश विरोधी नारे लगाए गए और फिर भी पुलिस ने स्वत संज्ञान नहीं लिया। जब विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने दबाव बनाया तब जाकर कहीं आनन-फानन में चार लोगों को बुलाया गया और उसको एक-दो घंटे  में ही वापस भेज दिया। विश्व हिंदू परिषद मांग करता है कि इस घटना के दौरान सुरक्षा प्रदान करने वाले अधिकारियों के विरुद्ध उनकी संवेदनशीलता व  अकर्तव्यपरायणता पर  तत्काल कार्यवाही करते हुए उनके निलंबन की कार्रवाई की जानी चाहिए। 
  • यह की इस क्षेत्र में इस प्रकार की देश विरोधी घटनाएं पहले भी होती रही है लेकिन स्थानीय पुलिस अपराधियों दंडित ना करके  पराश्रय देने का कार्य करती हैं।
  • यह कि चुकी यह देश के प्रति अपराध हुआ है तो अपराधियों के ऊपर देशद्रोह की धाराओं के अंतर्गत  भा सं की धारा 124A  में मुकदमा पंजीकृत होना चाहिए। 
  • यह कि इस जुलूस में शामिल प्रत्येक देशद्रोही को नामजद करके जेल भेजा जाना चाहिए। 
  • अगर गौतम बुध नगर पुलिस ने आगामी 2 दिनों के अंदर सेक्टर 8 में हुए इस देशद्रोह के कृत्य में सम्मिलित सभी अपराधियों पर संविधान की धारा 124 ए के अंतर्गत कार्यवाही नहीं की तो विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल व अन्य राष्ट्रवादी समाज  आंदोलन की राह सड़को पर होगा और इसकी जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस प्रशासन की होगी।