दिल्ली के पटेल नगर में लूटपाट का विरोध करने पर फाड़ डाला पेट, अंतड़ियां तक बाहर आ गईं


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो। काम खत्म कर घर लौट रहे एक इलेक्ट्रिशियन से दो बदमाश सरेराह लूटपाट करने लगे। विरोध करने पर बदमाशों ने पेट फाड़ दिया। इससे पीड़ित मनोज कुमार (42) की अंतड़ियां बाहर आ गईं और वह जमीन पर गिरकर तड़पने लगा। परिजन उन्हें जख्मी हालत में अस्पताल ले गए, जहां उनकी मौत हो गई। सेंट्रल जिले के पटेल नगर थाना पुलिस ने मर्डर और लूटपाट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई हैं, जिनमें दो आरोपी कैद मिले हैं। पुलिस की कई टीमें आरोपियों की धर-पकड़ में लग गई हैं।
मनोज कुमार परिवार के साथ वेस्ट पटेल नगर की बाबा फरीदपुरी में रहते थे। फैमिली में पत्नी सीमा, बेटा देव (14) और बेटी ट्विंकल (3) हैं। वह इलेक्ट्रिशियन का काम करते थे। उनके बड़े भाई मुकेश ने पुलिस को बताया कि वह बलजीत नगर में एक बुटीक पर टेलरिंग का काम करते हैं। मनोज उनकी दुकान से कुछ दुकान छोड़कर श्रवण इलेक्ट्रिकल्स की दुकान पर इलेक्ट्रिशियन का काम करते थे। दोनों के परिवार एक ही मकान की अलग-अलग मंजिल पर रहते हैं। शुक्रवार शाम करीब 8:30 बजे श्रवण स्कूटर से उनके बुटीक पर आए। उन्होंने बताया कि मनोज वेस्ट पटेल नगर 35-ब्लॉक की मेन रोड पर जख्मी हालत में पड़े हुए हैं।
वह तुरंत श्रवण के स्कूटर पर सवार होकर वहां पहुंचे। मनोज सड़क पर बेहोश पड़े थे और उनकी पेट की अंतड़ियां निकली हुई थीं। मनोज को श्रवण की मदद से बैट्री रिक्शा में रखवाया और सरदार पटेल अस्पताल ले गए। हालत खराब होने पर मनोज को आरएमएल अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत करार दिया। मनोज का फोन, पर्स और सोने की अंगूठी गायब मिली। मनोज की पत्नी सीमा ने बताया कि वारदात होने से थोड़ी देर पहले ही मनोज ने कॉल कर घर आने की बात कही थी। दोनों को कहीं बाहर जाना था। शुरुआती जांच में दो बदमाश सीसीटीवी में कैद मिले हैं, जो पैदल आए थे।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर