ई-ऑटो की सबसे बड़ी संख्या वाला शहर बन जाएगा दिल्ली, दो महीने में सड़कों पर दौड़ेंगे ई-ऑटो


नई दिल्ली। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने दिल्ली में ई-ऑटो मेले का उद्घाटन किया। इंस्टिट्यूट ऑफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च (आईडीटीआर) सराय काले खां और लोनी रोड में आयोजित इस मेले में ई-ऑटो से जुड़ी सभी जानकारियां उपलब्ध हैं। परिवहन मंत्री ने इस मौके पर कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मार्गदर्शन में दिल्ली को इलेक्ट्रिक गाड़ियों की राजधानी बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इसके साथ ही दिल्ली किसी भी भारतीय शहर में चलने वाले ई-ऑटो की सबसे बड़ी संख्या वाला शहर बन जाएगा। अगले 2 महीने में ये ई-ऑटो दिल्ली की सड़कों पर दौड़ने लगेंगे।
दिल्ली सरकार ने ऑटो रिक्शा ड्राइवरों के लिए इलेक्ट्रिक ऑटो मेला आयोजित करने का भी फैसला किया है। इस मेले में ऑटो ड्राइवर ई-ऑटो रिक्शा के सभी उपलब्ध मॉडल को देखने से लेकर चलाकर भी देख सकेंगे। लोन की शर्तों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। 31 अक्टूबर तक रोजाना सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक यह मेला चलेगा। ई-ऑटो निर्माता महिंद्रा, पियाजियो, ईटीओ मोटर्स और सारथी सहित महिंद्रा फाइनैंस, बजाज फिनकॉर्प, कन्वर्जेंस एनर्जी सर्विसेज लिमिटेड (सीईएसएल) जैसे फाइनैंसर मेले में भाग ले रहे हैं। ई-ऑटो मेला में विशेषज्ञ आवेदकों को ई-ऑटो के लिए पंजीकरण करने के तरीके के बारे में भी मार्गदर्शन करेंगे और उन्हें ई-ऑटो, बैट्री और चार्जिंग, रख-रखाव, सब्सिडी, ब्याज राहत के बारे में जानकारी देंगे।
परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ई-ऑटो मेला का उद्घाटन करते हुए कहा कि इलेक्ट्रिक गाड़ियों को अपनाना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है और यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने आवेदन की प्रक्रिया और अन्य औपचारिकताओं को सरल बनाया है। परिवहन विभाग पहले ही 4261 ई-ऑटो के पंजीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित कर चुका है। दिल्ली सरकार ने विशेष रूप से कुल पंजीकरण का 33 प्रतिशत यानी 1406 ई-ऑटो महिला आवेदकों के लिए आरक्षित किए हैं। ई-ऑटो जल्द ही डीटीसी बेड़े में शामिल होने वाली इलेक्ट्रिक बसों के अनुरूप नीले रंग के होंगे। महिलाओं द्वारा पंजीकृत ई-ऑटो गुलाबी रंग का होगा। ई-ऑटो पंजीकरण के लिए विभाग को 25 अक्टूबर तक 6352 आवेदन मिल चुके हैं।
लाइट मोटर वीकल का वैध ड्राइविंग लाइसेंस या थ्री-सीटर ऑटो-रिक्शा ड्राइविंग लाइसेंस धारक कोई भी व्यक्ति ई-ऑटो के पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकता है। आवेदक दिल्ली का निवासी होना चाहिए और उसके पास दिल्ली का पता वाला आधार कार्ड होना चाहिए। पीएसवी बैज आवेदन के समय अनिवार्य नहीं है, हालांकि सफल आवेदक को आवंटन के ड्रॉ के 45 दिनों के भीतर पीएसवी बैज प्राप्त करना होगा। आवेदक ई-ऑटो के पंजीकरण के आवेदन के लिए Transport.delhi.gov.in पर जा सकते हैं। वे दिल्ली सरकार 1076 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर जानकारी ले सकते हैं। दिल्ली सरकार ई-ऑटो की खरीद पर प्रति ई-ऑटो 30,000 रुपये का परचेज इंसेंटिव (प्रोत्साहन) प्रदान कर रही है।