छट पर्व से पहले दुरूस्त हो सभी आवश्यक व्यवस्थाऐं : जिलाधिकारी गाजियाबाद


गाजियाबाद ब्यूरो। छट के पर्व को देखते हुए जिला प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है। हिण्ड़न का मुख्य घाट पर छुट का सबसे बड़ा आयोजन होता है। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने हिण्डन घाट एवं अन्य छट घाटों के स्वच्छता और सौन्दर्यीकरण की तैयारियों के सम्बन्ध में आज सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों एवं पुरबिया जन कल्याण परिषद के पदाधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गाँधी सभागार में बैठक आहूत की। इस अवसर पर सर्वप्रथम छट पूजा को लेकर पुरबिया जन कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं0 राकेश तिवारी ने जिलाधिकारी को आवश्यक व्यवस्थाऐं करने के लिए प्रार्थना पत्र सौंपा, जिसके सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने प्रार्थना पत्र में अपेक्षित मॉग के सम्बन्ध में बिन्दुवार समीक्षा की। जनपद में इस वर्ष 62 स्थानों/स्थलों पर छट पूजा कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिलाधिकारी ने नगर निगम की ओर से बैठक में उपस्थित अपर नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि वह छुट पूजा को लेकर पुरबिया जन कल्याण परिषद के पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत छट घाटों का सौन्दर्यीकरण यथा- घाटों पर सीढ़ियों की मरम्मत, रंगाई पुताई, लोगों के बैठने के लिए पर्याप्त बैंच, चूना, मार्किंग, बैरिकेटिंग, हिण्डन नदी की साफ-सफाई, मोबाईल टॉयलेट्स की सम्पूर्ण व्यवस्था, पीने के लिए पानी की व्यवस्था इत्यादि समुचित व्यवस्थाऐं तत्काल सुनिश्चित करायें और घाटों पर लोगों पर नज़र रखने के लिए पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय कर चिन्हित स्थलों पर अस्थाई सी0सी0टी0वी0 कैमरे लगाने के निर्देश दिये। साथ ही अधिशासी अभियन्ता, सिंचाई विभाग को निर्देशित किया कि हिण्डन जलकुंभी की सफाई का कार्य तत्काल सुनिश्चित करायें। इसके अलावा हिण्डन में पानी कितना और कब छोड़ा जाऐगा, इसकी जानकारी अपर जिलाधिकारी (नगर) को तत्काल उपलब्ध करायें जाने के निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक (नगर) प्रथम को निर्देशित किया गया कि वह छुट पूजा की तैयारियों की सुरक्षा की दृष्टि से अपने स्तर पर समीक्षा कर लें तथा पर्याप्त मात्रा में आवश्यक पुलिस बल की तैनाती, महिला कर्मियों की तैनाती, यातायात पुलिस की तैनाती इत्यादि समुचित आवश्यक कार्यवाहियाँ समय से पूरा करायें। इस मौके पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि वह अपने स्तर से जिला मलेरिया अधिकारी को निर्देशित करें कि वह छुट पूजा घाटों पर एंटी लार्वा छिड़काव सुनिश्चित करारें, ताकि लोगों को पर्व के दौरान डेंगू जैसी घातक बीमारी से बचाया जा सके। इसके अतिरिक्त ऐसे घाट जो नगर पालिकाओं की सीमा में है, के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी (नगर) को निर्देशित किया कि वह अपने स्तर से सभी अधिशासी अधिकारियों को आवश्यक निर्देश निर्गत करें। इस अवसर पर जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये जिसमें नगर मजिस्ट्रेट/उप जिलाधिकारीगण/अपर नगर मजिस्ट्रेट्स अपने-अपने थाना क्षेत्रों में विभिन्न छठ संगठनों/कार्यक्रम आयोजक के साथ बैठक आहूत करें। छट पूजा के अवसर पर हिण्डन नदी के किनारे घाटों पर नगर निगम व जिला प्रशासन द्वारा अर्ध्य दिये जाने की समुचित व्यवस्था की जाये। इस अवसर पर हिण्डन के किनारे शौचालय एवं साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था की जाये। घाटों पर महिलाओं के लिए चेन्जरूम की समुचित व्यवस्था की जाये। हिण्डन घाट पर प्रकाश एवं पब्लिक एड्रेस सिस्टम की व्यवस्था की जाये, जिससे सोशल डिस्टेसिंग का पालन किये जाने का प्रचार किया जाये। सभी कार्यक्रमों में 02 गज की दूरी व मास्क का प्रयोग अनिवार्य होगा। यह भी प्रचार किया जाये। छट पूजा स्थल पर एम्बुलेंस की व्यवस्था मय चिकित्सकों की टीम के साथ की जाये। इस अवसर पर घाट पर पानी के बहाव की समुचित व्यवस्था की जाये एवं घाटों के अन्दर लोग गहरे पानी में न जाने पाये, इसके लिए घाट के अन्दर बैरिकेडिंग की उचित व्यवस्था की जाये। पूजा स्थलों/घाट पर पहुॅचने के लिए यथाआवश्यक सीढ़ियों की व्यवस्था की जाये। पूजा स्थल की सतत् निगरानी के लिए सी0सी0टी0वी0 कैमरों की समुचित व्यवस्था की जाये। छट पूजा में महिलाओं/बालिकाओं द्वारा प्रतिभाग किया जाता है। अतः सादे वस्त्रों में महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती/ड्यूटी लगायी जाये। मुख्य घाट पर कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जाये, जिसमें मजिस्ट्रेट/पुलिस अधिकारी/छट आयोजन समिति के पदाधिकारी के साथ सिविल डिफेंस के लोग उपस्थित रहें। छट के घाटों एवं पूजा स्थलों पर मजिस्ट्रेट/पुलिस के अधिकारी की तैनाती की जाये, जिससे सुरक्षा व्यवस्था प्रभावित न हो। हिण्डन घाट पर पेय जल व्यवस्था, स्वच्छता व हैण्डवॉशिंग स्टेशन व सेनेटाईजेशन की व्यवस्था की जाये। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक (नगर) प्रथम निपुण अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी (नगर) विपिन कुमार, नगर मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह, अपर नगर आयुक्त शिवपूजन यादव, अधिशासी अभियन्ता (सिंचाई) सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहें।