मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 17 नवंबर से खोला जाएगा करतारपुर कॉरिडोर, पहले जत्थे में 250 लोग जाएंगे पाकिस्तान


चंडीगढ़। केंद्र की मोदी सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने का फैसला किया है। दरअसल, पंजाब के 11 प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। आपको बता दें कि 19 नवंबर से सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व की शुरुआत होने वाली है। इससे पहले मोदी सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को 17 नवंबर से खोलने का फैसला किया है। 
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि यह फैसला गुरु नानक देव जी और सिख समुदाय के प्रति मोदी सरकार की अपार श्रद्धा को दर्शाता है। इस फैसले से बड़ी संख्या में सिख तीर्खयात्री लाभान्वित होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 नवंबर से करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने का फैसला किया है। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कि देश 19 नवंबर को गुरु नानक देव का प्रकाश उत्सव मनाने के लिए पूरी तरह तैयार है। मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोलने के फैसले से पूरे देश में आनंद और उत्साह को और बढ़ावा मिलेगा। प्राप्त जानकारी के मुताबिक पहले जत्थे में 250 लोग पाकिस्तान जाएंगे। हालांकि करतारपुर कॉरिडोर को सशर्त खोला है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस प्रदेश प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से करतापुर कॉरिडोर खोलने की अपील की थी। करतारपुर कॉरिडोर सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के अंतिम विश्राम स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब, पाकिस्तान को पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ता है।