18 करोड़ की हेरोइन के साथ दो गिरफ्तार, ड्रग्स पैडलर की तलाश में जुटी पुलिस


बाहरी दिल्ली।
आउटर नॉर्थ जिले की पुलिस ने करीब 18 करोड़ कीमत की ड्रग्स को पकड़ा है। हाल के दिनों में जिला पुलिस की यह बड़ी कार्रवाई है। बरेली से सप्लाई दिल्ली पहुंचती थी। जहां से लोकल के अलावा दिल्ली से बाहर भी भेजा जाता था। पूरा चेन सिस्टम है। जिसमें अलग अलग कड़ियां काम कर रही थीं। मामले में दिल्ली समेत कई ड्रग पैडलर की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। डीसीपी बिजेंद्र यादव के मुताबिक, एसीपी रिछपाल सिंह के सुपरविजन में टीम ने ड्रग का यह बड़ा खुलासा किया है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान दिल्ली के मुकुंदपुर निवासी वरुण और बरेली निवासी आसिम के तौर पर हुई है।
वसीम बरेली से माल लेकर दिल्ली आया था। इसे सुल्तानपुरी के दिनेश को सप्लाई देनी थी। दिनेश पहले भी एनडीपीएस एक्ट में बंद हो चुका है। उसका नाम दिल्ली के बड़े ड्रग पैडलर के तौर पर गिना जाता है। दिनेश की बीएमडब्ल्यू कार पर ड्राइवर वरुण सप्लाई लेने एनसीसी बिल्डिंग के पास समयपुर बादली आया था। तभी टीम ने रंगे हाथों दोनों को पकड़ लिया। जांच में पता चला कि वरुण 2014 के भलस्वा में रेप केस में बंद हुआ था। दो साल बाद जमानत पर बाहर आ गया। जेल में ही उस दौरान दिनेश से मुलाकात हुई थी। दिनेश उस समय जेल में था। वरुण बाहर आते ही दिनेश के ड्रग सिंडीकेट से जुड़ गया। साथ ही कार का ड्राइवर भी बन गया। मंगलवार को 6 किलो ड्रग लेकर वसीम बस से दिल्ली आनंद बिहार बस अड्डे आया था। वहां से ऑटो करके बादली पहुंचा। जहां वरुण ने माल रिसीव किया। पता चला कि महीने में इस तरह की दो बार सप्लाई यहां देने आता है। पुलिस टीम अब ड्ग सिंडीकेट के मास्टरमाइंड की तलाश में है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर