मथुरा में 7 दिन में 7 हत्याएं, पुलिस एक भी शव की नहीं करा पाई शिनाख्त


मथुरा,(उत्तर प्रदेश)। मथुरा में सात दिनों में अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 7 शव मिलने से पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। जिले में लगातार मिल रहे शवों से पुलिस की नींद उड़ गई है। जिले में सात हत्याओं से जहां पुलिस सकते में है तो वहीं पुलिस की कार्य प्रणाली पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। पुलिस सभी हत्याओं के जल्द खुलासे की बात कह रही है। जिले में लगातार हो रही हत्याओं से पुलिस विभाग की नींद उड़ी हुई है। विगत दिनों जिले में हुई हत्याओं की गुत्थी पुलिस अभी तक नहीं सुलझा पाई है। दूसरी तरफ दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में युवक-युवती के शव मिलने से पुलिस की मुसीबतें और बढ़ गई हैं। सोमवार को थाना हाईवे इलाके के गांव धनगांव में एक 19 वर्षीय युवती का शव कुएं में मिलने से सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती के शव को कुएं से बाहर निकलवा कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा।
सीओ रिफाइनरी संदीप मीना ने बताया कि धनगांव के खेतों में बने कुएं में युवती का शव मिला है। मृतक युवती की शिनाख्त धनगांव निवासी मानसिंह की पुत्री के रूप में हुई है। मामले की जांच की जाएगी। साथ ही थाना यमुना पार क्षेत्र में 20 वर्षीय अज्ञात युवक का शव पड़ा मिला। वहीं, पुलिस ने युवक के शव का पंचनामा भर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। युवक कौन है और कहां का रहने वाला है, ये अभी कुछ पता नहीं चल पाया है।
विगत मंगलवार को थाना सुरीर इलाके के यमुना एक्सप्रेसवे की माइलस्टोन संख्या 78 पर एक 15 वर्षीय किशोर का शव कटीले तारों से लटका मिला था। वहीं, दूसरा शव थाना नौहझील क्षेत्र के यमुना एक्सप्रेसवे की माइल स्टोन संख्या 74 पर एक 10 वर्षीय बच्चे का शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। इसके अलावा थाना बलदेव इलाके के यमुना एक्सप्रेसवे की माइल स्टोन संख्या 129 के समीप नोएडा-आगरा मार्ग पर एक 35 वर्षीय अज्ञात महिला का शव झाड़ियों में पड़ा मिला था। गुरुवार को थाना हाईवे क्षेत्र के गांव बाकलपुर के समीप बम्बे में एक 28 वर्षीय पूजा नाम की महिला की बॉडी मिलने से हड़कंप मच गया। वहीं इन मामलों में पुलिस का कहना है कि थाना सुरीर, थाना नौहझील, थाना बलदेव, थाना गोवर्धन में मिले मृतकों की शिनाख्त कराई जा रही है, जो भी घटनाक्रम से दोषी होंगे गिरफ्तार कर जल्द जेल भेजा जाएगा। साथ ही लगातार जिले में बढ़ रहे क्राइम के ग्राफ को देखते हुए पुलिस विभाग की भी नींद उड़ी हुई है।