गेंहूं में लगे कीटनाशक खाने से आठ मोरों की मौत, 8 अस्पताल में भर्ती

 

आगरा,(उत्तर प्रदेश)। आगरा जिले में गुरुवार को आठ मोरों की दर्दनाक मौत हो गई। इसके अलावा आठ बुरी तरह से घायल अवस्था में मिले। मोरों को कीठम पक्षी विहार के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वेटरनिटी ऑफिसर मनोज शर्मा का कहना है कि मोरों की मौत गेहूं के पौधों में लगे कीटनाशक से हुई है। मोरों के गले में गेहूं के दाने मिले हैं। घटना ब्लॉक अकेला के ग्राम लालऊ की है। किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने बताया कि सुबह करीब सात बजे न्यू दक्षिण बाईपास के पास जावित्री कोल्ड स्टोर के सामने खेत में तमाम मोर पड़े तड़प रहे थे, जबकि कुछ मोरों के प्राण पखेरू उड़ चुके थे। उन्होंने तत्काल फॉरेस्ट डिपार्टमेंट और डब्ल्यूएचओ को सूचना दी। सूचना के बाद कीठम पक्षी विहार से ऐंबुलेंस मौके पर पहुंच गई। घायल मोरों को अस्पताल में भर्ती कराया। मृतकों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया।
वेटरनिटी ऑफिसर मनोज शर्मा ने बताया कि किसान अपनी फसल को कीड़ों से बचाने के लिए कीटनाशक दवाओं का प्रयोग करते हैं। उपचारित गेहूं के दाने राष्ट्रीय पक्षी मोर ने खा लिए। इससे आठ मोरों की मौत हो गई और आठ मोरों को अस्पताल में भर्ती कराया है। इनमें कई मोरों की हालत गंभीर है। वेटरनिटी ऑफिसर ने बताया कि मोर राष्ट्रीय पक्षी है। सभी मृत मोरों का दाह संस्कार सम्मान के साथ किया जाएगा। अधिकारियों को सूचित किया गया है। अधिकारियों के आने के बाद अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।