पूर्वी दिल्ली की कल्याणपुरी पुलिस का कारनामा, पहले पटाखे पकड़कर वाहवाही लूटी, एक दिन बाद उसी दुकान से बिकवाए पटाखे


  • कल्याणपुरी इलाके में पुलिसवालों के सामने पटाखे बेचने का वीडियो वायरल
  • धनतेरस पर अवैध रूप से 236 किलो पटाखों के साथ शख्स को पकड़ा था
  • डीसीपी ईस्ट दिल्ली प्रियंका कश्यप ने कहा- जांच के बाद करेंगे कार्रवाई
दिल्ली ब्यूरो। पुलिस कैसे सिस्टम का फायदा उठाती है, इसका अंदाजा ईस्ट दिल्ली की कल्याणपुरी पुलिस के कारनामे के बारे में जानकर लगाया जा सकता है। दरअसल पुलिस ने धनतेरस पर अवैध रूप से पटाखे बेचने वाले शख्स को 236 किलो पटाखों के साथ गिरफ्तार किया। वाहवाही लूटने के लिए प्रेस रिलीज भी जारी की गई। मगर एक दिन बाद यानि दिवाली के दिन उसी दुकान पर पटाखे बिकने की वीडियो सामने आ गई। यही नहीं हैरानी की बात ये रही कि जिन कांस्टेबल सचिन और सुभाष ने आरोपी को गिरफ्तार किया था, वह दुकान के पास गिरफ्तार आरोपी के पिता के साथ खड़े होकर सब देख रहे थे। इस से जाहिर है कि उनकी सहमति से पटाखे बेचे जा रहे थे। इस मामले में डीसीपी ईस्ट दिल्ली प्रियंका कश्यप ने कहा कि हम इसमें आगे की आवश्यक कार्रवाई के लिए इसकी जांच कर रहे हैं।
डीसीपी की प्रेस रिलीज के मुताबिक, 2 नवम्बर को कल्याणपुरी पुलिस ने मनीष गुप्ता नामक शख्स को 236 किलो पटाखों के साथ त्रिलोकपुरी से गिरफ्तार किया था। पुलिस टीम में कांस्टेबल सचिन और सुभाष का भी नाम था। अब इसके बाद भी 4 नवम्बर को उसी दुकान से पटाखे बेचे गए। उस दौरान दोनों पुलिस वाले भी वहां मौजूद थे। जिसकी वीडियो भी वायरल हो गई है।
वीडियो में साफ दिख रहा है कि दुकान से दो बच्चे पटाखे बेच रहे हैं। दो बच्चों के अलावा दुकान में एक महिला बैठी है, जबकि काउंटर पर ग्राहकों की काफी भीड़ है। दुकान में पटाखों का ढेर रखा हुआ है। बताया गया है कि अवैध कारोबार में बच्चों का इस्तेमाल किया जाना आम बात हो गई है। कानून से बचने के लिए ऐसा किया जाता है।