दिल्ली में महिला के साथ हैवानियत, सिरफिरे आशिक ने हाथ बांधकर डाला तेजाब, हालत बेहद नाजुक


दिल्ली ब्यूरो। बाहरी-उत्तरी दिल्ली के बवाना इलाके में एक सिरफिरे सनकी आशिक ने एक महिला के साथ कुछ ऐसा किया कि सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। 23 वर्षीय सनकी युवक ने बातचीत के बहाने महिला को अपने कमरे पर बुला लिया। इसके बाद महिला को रस्सी से बांधकर उस पर तेजाब डाल दिया। वारदात के बाद आरोपी बिहार फरार हो गया। 26 वर्षीय महिला को बेहद नाजुक हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह जिंदगी के लिए जंग लड़ रही है। घटना के बाद पुलिस की टीम ने आरोपी मोंटू (23) को बिहार के बक्सर से दबोच लिया। उसे दिल्ली लाया गया। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस शाहबाद डेयरी में एक स्थान से तमंचा बरामद करने का प्रयास कर रही थी। उसी दौरान आरोपी ने झाड़ियों में छिपाए गए हथियार से पुलिस टीम पर गोली चला दी। गनीमत रही कि गोली किसी को लगी नहीं। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में गोली चलाई तो मोंटू की टांग में लगी। उसे भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाहरी-उत्तरी जिला पुलिस मामले की जांच कर रही है। बाहरी-उत्तरी जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मूलरूप से बिहार के बक्सर की रहने वाली शालू (26) (बदला हुआ नाम) अपने पति के साथ बवाना सेक्टर-3, पूठखुर्द में रहती है। उसका पति एक फैक्टरी में नौकरी करता है। शालू के ही गांव का रहने वाला मोंटू शादी से पहले से उसे जानता था। वह अक्सर उससे बातचीत करता था। लेकिन शालू ने इससे आगे कोई कदम नहीं बढ़ाया। इस दौरान उसकी शादी हुई तो वह पति के साथ दिल्ली के पूठखुर्द में आकर रहने लगी। शालू का पीछा करते हुए मोंटू भी उसके पड़ोस में कमरा लेकर रहने लगा। तीन नवंबर को शालू का पति काम पर गया था। मोंटू ने बातचीत के बहाने शालू को अपने कमरे पर बुलाया। वहां आरोपी ने शालू से कहा कि वह अपने पति को छोड़कर उससे शादी कर ले। शालू ने मना किया तो आरोपी ने जबरन उसके हाथ बांध दिए। पीड़िता चिल्लाती रही। आरोपी ने एक बड़े डिब्बे में भरकर उस पर तेजाब डाल दिया। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शालू को अस्पताल में भर्ती कराया।
शालू का पूरा चेहरा, शरीर के ज्यादातर हिस्सा झुलस गया था। उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी। एक टीम ने बिहार से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उसे दिल्ली लाया गया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि उसने शालू के पति को मारने के लिए एक तमंचा भी खरीदा हुआ था। तमंचा उसने दिल्ली में ही शाहबाद डेयरी इलाके में छिपाया हुआ है। पुलिस ने आरोपी की एक दिन की रिमांड ली और तमंचा बरामद करने शाहबाद डेयरी इलाके में पहुंच गई। शनिवार देर रात को पुलिस की एक टीम आरोपी को लेकर शाहबाद डेयरी इलाके में पहुंची। आरोपी पुलिस को गुमराह करता रहा। इस बीच अचानक एक जगह उसने छिपाया हुआ तमंचा उठाया और पुलिस टीम पर गोली चला दी। गनीमत रही कि गोली किसी पुलिस के जवान को नहीं लगी। जवाबी कार्रवाई में मोंटू की टांग में गोली लगी। इसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां इसका इलाज जारी है। पुलिस पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।
शालू की हालत नाजुक, कई पुलिसकर्मियों ने दिया खून
अस्पताल में भर्ती शालू जिंदगी के लिए जंग लड़ रही है। सोमवार को जब उसके लिए खून की जरूरत पड़ी तो जिले के कई जवान उसकी मदद के लिए आगे आए। जिले के कई जवानों ने अस्पताल पहुंचकर शालू के लिए रक्तदान किया। डॉक्टर भी हर संभव प्रयास कर शालू को बचाने का प्रयास कर रही है। डॉक्टर का कहना है कि शालू इतनी बुरी तरह झुलसी है कि उसके शरीर से मांस तक गायब हो चुका है।