कनॉट प्लेस के हनुमान मंदिर कैंपस से हटाए गए भिखारी और नशेड़ी


दिल्ली ब्यूरो। कनॉट प्लेस स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर परिसर से सभी भिखारियों को हटा दिया गया है। मंदिर परिसर में जहां-तहां फैले तमाम भिखारियों को शेल्टर होम में शिफ्ट कर दिया गया। साथ ही मंदिर परिसर में जितने भी अवैध कब्जे थे वह भी हटा दिए गए। पुलिस द्वारा अन्य संबंधित संस्थाओं के साथ मिलकर की गई इस कार्रवाई के बाद मंदिर परिसर की साफ-सफाई भी कराई गई।
इस मामले में मीडिया ने खबर छापकर इस बारे में जानकारी दी थी कि जल्द ही कनॉट प्लेस से भीख मांगने वाले हटाए जाएंगे। अब आप जब भी कनॉट प्लेस में हनुमान बाबा के दर्शन करने के लिए जाएंगे तो आपको यहां ना तो एक भिखारी नजर आएगा और ना ही नशा लेते हुए कोई नशेड़ी। यहां फुटपाथ और अन्य जगहों पर कब्जा जमाए तमाम नशेड़ियों को भी हटा दिया गया है। इनमें पिछले दिनों ऐसे कुछ सप्लायर को पकड़ा भी गया जो इन्हें नशे का सामान बेचते थे। नई दिल्ली जिले के डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि सोमवार को कनॉट प्लेस के हनुमान मंदिर परिसर में ड्राइव चलाई गई। अब आने वाले दिनों में यहां निगरानी भी रखी जाएगी। ताकि जो भी भिखारी या नशेड़ी आए उन्हें ठंड से भी बचाते हुए शेल्टर होम में पहुंचा दिया जाए।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस काम में कनॉट प्लेस थाने के एसएचओ उपेंद्र सिंह और इनकी टीम का अहम योगदान रहा। जिन्होंने दिल्ली लीगल सर्विस अथॉरिटी नई दिल्ली, एनडीएमसी, फायर ब्रिगेड, एनजीओ और लोकल लोगों के साथ अन्य संबंधित एजेंसियों की भी मदद लेकर इस एरिया को बैगर फ्री कराने की कार्रवाई की।