लोनी बॉर्डर थाना एसएचओ ने खुद ही थाने का चार्ज छोड़ा जीडी में डाला तस्करा, पुलिस महकमे में मची खलबली


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाना के थानाध्यक्ष ने खुद ही अपने थाने का चार्ज छोड़ते हुए जीडी में तस्करा (एंट्री) डाला। जिसमें बताया गया कि फिलहाल उनकी ओर से मुठभेड़ के दौरान 7 गोकशों को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद जिस तरह से उनका तबादला किया गया। उससे प्रार्थी का मनोबल पूरी तरह से टूट चुका है और अब वह नौकरी करने की स्थिति में नहीं है। इसलिए फिलहाल उन्हें कार्यमुक्त किया जाए। कार्य मुक्ति किए जाने के लिए जैसे ही एसएचओ ने अपने थाने का चार्ज छोड़ते हुए तस्करा डाला तो पुलिस महकमे में खलबली मच गई।
गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर थाने के एसएचओ ने अपनी टीम के साथ हाल ही में 7 गोकशी करने वाले अभियुक्तों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था। सभी के पैर में गोली लगी थी, लेकिन इस पूरी कार्रवाई के बाद एसएचओ का तत्काल प्रभाव से तबादला कर दिया गया। जिसके बाद एसएचओ ने अपने थाने में ही खुद एक तस्करा डाला। जिसमें जिक्र किया कि वह सरकारी पिस्टल और तीन कारतूस जमा करते हुए थाने का कार्यभार वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रदीप शर्मा को सौंपते थाने का चार्ज छोड़ रहे हैं। तस्करा में लिखा गया है कि फिलहाल जिस तरह से उनकी कार्यशैली पर तमाम सवाल खड़े करते हुए उनका तबादला किया गया। उससे प्रार्थी का मनोबल टूट चुका है। फिलहाल प्रार्थी नौकरी करने की स्थिति में नहीं है।
एसएचओ द्वारा डाले गए तस्करा में कहा गया है कि प्रार्थी पर आज तक कोई भी आरोप नहीं लगा है और न ही प्रार्थी की किसी भी जिले में जांच लंबित है। साथ ही चरित्र रोल पर वार्षिक मंतव्य उत्कृष्ट श्रेणी का रहा है। इस घटना के बाद से प्रार्थी नौकरी करने की स्थिति में नहीं है। इसलिए निवेदन है कि प्रार्थी को कुछ समय के लिए नौकरी से कार्यमुक्त करने की कृपा करें। प्रार्थी पर किसी तरह की कोई पेंडेंसी शेष नहीं है। एसएचओ द्वारा डाले गए इस तरह के तस्करा के बाद पुलिस महकमे में पूरी तरह से खलबली मची हुई है। लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने भी एसएचओ के तबादले पर नाराजगी जतायी है।