लखनऊ की कोर्ट ने सपना चौधरी के खिलाफ जारी किया गिरफ्तारी वॉरंट


लखनऊ,(उत्तर प्रदेश)। लखनऊ की एक अदालत ने मशहूर नृत्यांगना सपना चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है। यह वॉरंट उनके एक कार्यक्रम को मनमाने तरीके से रद्द करने और टिकट खरीदने वालों को उनका रुपया वापस नहीं करने के मामले में जारि किया गया है। मामले की अगली सुनवाई 22 नवंबर को होगी।
दारोगा फिरोज खान ने 14 अक्टूबर 2018 को इस सिलसिले में आशियाना थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मुकदमे में सपना के अलावा कार्यक्रम के आयोजक जुनैद अहमद, नवीन शर्मा, इवाद अली, अमित पांडे और रत्नाकर उपाध्याय को भी आरोपी बनाया गया था।
मुकदमे में आरोप है कि हरियाणवी डांसर सपना चौधरी को 13 अक्टूबर, 2018 को स्मृति उपवन में दोपहर तीन बजे से रात 10 बजे तक सपना समेत अन्य कलाकारों का प्रोग्राम था, जिसके लिए प्रति व्यक्ति तीन सौ रुपये में ऑनलाइन व ऑफलाइन टिकट बेचा गया था।
कार्यक्रम के लिए स्मृति उपवन में हजारों की संख्या में लोग आए थे लेकिन जब सपना रात 10 बजे तक कार्यक्रम स्थल पर नहीं पहुंचीं तो भीड़ ने टिकट का धन वापस देने की मांग को लेकर हंगामा किया था। हालांकि, उन्हें पैसे वापस नहीं किये गए। अदालत इस प्रकरण में मामला खत्म करने के अनुरोध वाली सपना चौधरी की डिस्चार्ज याचिका को पहले ही खारिज कर चुकी है। अब अदालत सपना और इस मामले के अन्य अभियुक्तों के खिलाफ आरोप तय करेगी।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर