अब कानपुर पुलिस पर पिटाई से युवक की मौत का आरोप, तीन दिन से चल रही थी पूछताछ


कानपुर,(उत्तर प्रदेश)। गोरखपुर, आगरा और कासगंज की घटना शांत नहीं हुई थी कि अब कानपुर पुलिस पर युवक की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है। आरोप है कि तीन दिन पहले पुलिस युवक को चोरी के आरोप में उठा ले गई थी। उसकी इतनी पिटाई की गई कि मौत हो गई। घरवालों का आरोप है कि मंगलवार सुबह कुछ पुलिसवाले युवक को घर के पास फेंककर चले गए। घटना कानपुर के कल्याणपुर इलाके का है। आरोप है कि गुवा गार्डेन के रहने वाले युवक जितेंद्र श्रीवास्तव (25) को पुलिस रविवार को उठा ले गई थी। पुलिस ने पांच नवंबर को हुई एक चोरी के मामले में उसे आरोपी बताया था।
घरवालों का आरोप है कि शाम को बेसुध हालत में पुलिस उसे घर में फेंक गई। जितेंद्र की तबीयत खराब हुई तो घरवाले उसे अस्पताल ले गए। रास्ते में ही युवक की मौत हो गई। घरवालों ने उसके शरीर में चोट की निशान देखे तो वह भड़क गए। उन्होंने हंगामा किया। घरवालों का कहना है कि कल्याणपुर के रहने वाले एक शख्स के घर बीस लाख रुपये की चोरी हो गई थी। उन्होंने जितेंद्र पर चोरी का आरोप लगाया था। पुलिस इसी सिलसिले में जितेंद्र को घर से उठा ले गई थी।
घरवालों ने बताया कि जितेंद्र मुंबई में मजदूरी का काम करता था। वह दिवाली की छुट्टियों पर घर आया था। वह मुंबई वापस जाने वाला था, उससे पहले पुलिस ने उसे उठा लिया। बहन और मां का आरोप है कि रात को पनकी रोड चौकी में रखकर जितेंद्र को पिटा गया। तड़के उसे घर पर छोड़कर चले गए। घरवालों ने जितेंद्र की बिगड़ती हालत देखी और उसके शरीर पर पिटाई के लाल, काले, नीले निशान देखे तो दंग रह गए। उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए। यहां इलाज के दौरान जितेंद्र की मौत हो गई। घरवालों ने शव रखकर हंगामा किया। सूचना पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं।