दक्षिण-पूर्व जिला डीसीपी ईशा पांडेय का आदेश: अब रात में हर थाना इलाके में एक इंस्पेक्टर करेगा गश्त 


दिल्ली ब्यूरो। दक्षिण-पूर्व जिले के हर थाना इलाके में एक इंस्पेक्टर रात को पेट्रोलिंग करेगा। दक्षिण-पूर्व जिले की डीसीपी ईशा पांडेय ने ये अनोखा फरमान सुनाया है। इससे जिले में तैनात इंस्पेक्टरों में हड़कंप मचा हुआ है। पूरे जिले में ये फरमान जोरों से चर्चा का विषय बना हुआ है। दक्षिण-पूर्व जिला डीसीपी ईशा पांडेय ने फरमान सुनाया है कि अब हर थाना इलाके में एक इंस्पेक्टर रात को पेट्रोलिंग करेगा। बताया जा रहा है कि मेवाती गिरोह की बढ़ती वारदातों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। हाल ही में मेवात का एक गिरोह दिल्ली के बीचोबीच चितरंजन पार्क इलाके से एटीएम को काटकर कैश को लेकर गए थे। ये मेवाती गिरोह अभी तक पकड़ा नहीं गया है। अभी तक तीन थाना इलाकों में यानि एक सब-डिवीजन में एक इंस्पेक्टर रात को पेट्रोलिंग करता था। अब हर थाना इलाके में रात को एक इंस्पेक्टर थाने में रुकेगा और वहीं इलाके में गश्त करेगा। अब जिले में रात को एक डीसीपी व एसीपी रात को पेट्रोङ्क्षलग करेंगे, जबकि इंस्पेक्टर रात को पेट्रोलिंग करेगा। 
डीसीपी ईशा पांडेय का कहना है कि इलाके में रात के समय सीनियर पुलिस अफसरों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए ये कदम उठाया गया है। इससे अपराध को रोकने में सफलता मिलेगी। सीनियर अफसर रात को इलाके में तो रहेंगे तो जूनियर अफसर भी इलाके में मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि हाल ही में दक्षिण-पश्चिमी जिला डीसीपी ने एक फरमान जारी किया था कि रात को दो इंस्पेक्टर थाने में रूकेंगे। एक इंस्पेक्टर रात को थाने में रहेगा, जबकि दूसरा रात को इलाके में पेट्रोलिंग करेगा। दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने हाल ही में आदेश दिया है कि जिले में तीन डीसीपी में एक डीसीपी रात को जिले में रूकेगा और रात को जिले में पेट्रोलिंग करेगा।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर