एएटीएस टीम की महिला एसआई ने झपटमार के पैर में गोली मारकर किया गिरफ्तार


दिल्ली ब्यूरो। लूटपाट की कई वारदतों को अंजाम दे चुके एक झपटमार के पैर में गोली मारकर द्वारका जिला पुलिस की एएटीएस टीम की महिला एसआई ने गिरफ्तार कर लिया। गोली बचाव में मारी गई। डीसीपी द्वारका शंकर चौधरी ने बताया कि आरोपी मोहम्मद अरमान (22) को पकड़ने के लिए एएटीएस की टीम ने द्वारका सेक्टर-14 में ट्रैप लगाया था। आरोपी ने पुलिस को देखकर फायरिंग शुरू कर दी। आरोपी ने तीन राऊंड फायरिंग की। जिसके बाद आत्मरक्षा के लिए महिला एसआई ने भी फायरिंग की और आरोपी के पैर में गोली मारी। इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और अस्पताल में भर्ती किया। जहां उसका उपचार किया जा रहा है। 
पुलिस अधिकारी ने बताया कि एएटीएस इंचार्ज कमलेश कुमार की टीम को कुख्यात झपटमार के द्वारका सेक्टर-14 में आने की सूचना मिली। पुलिस टीम ने सादे कपड़ों में द्वारका सेक्टर-13 और सेक्टर-14 के बीच में पुलिस की तैनाती की। 13 नवंबर की रात करीब 8:30 बजे पुलिस को बाइक पर अरमान आता हुआ दिखाई दिया। एसआई सरोज और कांस्टेबल संदीप ने अरमान को रुकने का इशारा किया। अरमान ने दोनों पर फायरिंग शुरू कर दी। एक गोली कांस्टेबल संदीप की बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगी। जिस पर एसआई सरोज ने जवाबी कार्रवाई करते हुए अरमान पर फायरिंग की। अरमान के पैर में गोली लगी और वह बाइक सहित गिर गया। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला है कि अरमान पर दिल्ली के विभिन्न थानों में तीन दर्जन से ज्यादा चेन स्नैचिंग, मोबाइल और बैग लूट के मामले दर्ज हैं। आरोपी अपने परिवार के साथ बवाना जेजे क्लस्टर में रहता है और रोहिणी, आऊटर नॉर्थ, द्वारका, आऊटर दिल्ली पश्चिमी दिल्ली में झपटमारी की वारदातों को अंजाम देता है। अरमान आऊटर नॉर्थ जिले का घोषित अपराधी है और महंगे फोन, शराब, कपड़े पहनने के लिए अपराधिक वारदातों को अंजाम देता है।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर