राज्यस्तरीय पहलवान संदीप की गोली मारकर हत्या



बागपत,(उत्तर प्रदेश)। जिले के बदरखा गांव में संदीप की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई। वे राज्यस्तरीय पहलवान थे। हत्या की घटना की जानकारी के बाद गांव में तनाव का माहौल है। मृतक की मां ने गांव के ही युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोपी की गिरफ्तारी का प्रयास चल रहा है। मृतक पहलवान संदीप की मां ने घटना का कारण 20 हजार रुपये के लेनदेन को बताया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि गांव के युवक ने इस मामले में किराये के गुंडों की मदद से संदीप की हत्या कराई है। हत्या के बाद गांव में तनाव का माहौल है। किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति न उत्पन्न हो, इसके लिए गांव में पुलिस बलों की तैनाती की गई है। बदरखा गांव में शनिवार की रात किसी ने संदीप को फोन कर बुलाया। उसके बाद गांव के बीच में ही संदीप की गोली मारकर हत्या कर दी गई। संदीप का शव खड़ी हुई बाइक पर पड़ा मिला, जिसके बाद हंगामा हो गया। संदीप की मां ने रूपयों के लेनदेन के विवाद में हत्या का आरोप लगाते हुए गांव ही एक युवक पर हत्या का आरोप लगाते हुए नामदर्ज मुकदमा दर्ज कराया है।
पहलवान संदीप बंजारा की मां ने बताया कि उनका बेटा गांव के ही भगत के बेटे काला उर्फ अनिल के साथ दिल्ली में पार्टनरशिप में कोई काम करता था। कुछ दिन पहले दोनों ने साझेदारी में काम करना बंद कर दिया था। काला ने उनके बेटे की ओर हिसाब के 20 हजार रुपए निकाले थे। पीड़िता ने बताया कि पांच दिन पहले काला उसके घर आया और उसे धमकी देते हुए कहा कि या तो अपने बेटे से उसके 20 हजार रुपए दिलवा दे, अन्यथा वह उसे जान से मार देगा। हत्या की घटना के बाद से ही गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसको देखते हुए वहां पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के लिए दबिश दी, लेकिन आरोपित पुलिस की पकड़ में नहीं आ सके हैं। एसपी बागपत नीरज कुमार जादौन ने कहा कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम लगा दी गयी है। जल्द गिरफ्तारी होगी। संदीप राज्यस्तरीय पहलवान था। उसने राज्य स्तरीय कुश्ती प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था। संदीप के बाबा भी पहलवान थे। हालांकि, पिछले कई साल से संदीप कुश्ती से दूर था। दिल्ली में वह कपड़े की दुकान चला रहा था। छपरोली थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी अनिल व संदीप इसी दुकान के पाटनर थे। पार्टनरशिप समाप्त होने के बाद दोनों में तनाव चल रहा था।