नोएडा में लगा उत्तर प्रदेश का पहला एयर पाल्यूशन कंट्रोल टावर


नोएडा ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के पहले एयर पाल्यूशन कंट्रोल टावर (एपीसीटी) शहरवासियों को स्माग से राहत देने के लिए तैयार है। भारी उद्योग मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय और राज्य मंत्री विद्युत और भारी उद्योग श्री कृष्ण पाल गुर्जर ने इसका शुभारंभ किया। कार्यक्रम में सांसद डा. महेश शर्मा और विधायक पंकज सिंह के अलावा अन्य लोग मौजूद रहे। एयर पाल्यूशन कंट्रोल टावर एक वर्ग किमी तक हवा को शुद्ध कर सकता है। यह प्रदेश का पहला टावर है। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में यह सेक्टर-16 ए फिल्म सिटी व डीएनडी के बीच हरित क्षेत्र की जमीन पर लगाया गया है। इसका निर्माण भेल ने किया है। बुधवार को सेक्टर-16 ए स्थित फिल्म सिटी की पार्किंग स्थल पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें केंद्रीय मंत्री कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। इसके बाद इसका उद्घाटन किया।
इस मौके पर भेल के गौतमबुद्ध नगर सांसद डा. महेश शर्मा, राज्यसभा सदस्य सुरेंद्र सिंह नागर, नोएडा विधायक पंकज सिंह, भेल के सीएमडी, नोएडा प्राधिकरण मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी समेत अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। अधिकारियों ने बताया कि टावर के शुरू होने से एक वर्ग किलोमीटर (सेक्टर-16, 16ए, 16 बी, 17, 17ए, 18, डीएनडी, नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेस वे) क्षेत्र की वायु गुणवत्ता में सुधार होगा। इसकी ऊंचाई करीब 20 मीटर और आधार 4.5 मीटर व्यास का है। इस टावर के लिए प्राधिकरण की ओर से लगभग चार सौ वर्ग मीटर जमीन अस्थायी रूप से उपलब्ध कराई गई है।
यह टावर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) के हरिद्वार प्लांट में तैयार किया गया है। टावर तैयार करने के साथ ही इसका ट्रायल चल रहा है। भेल द्वारा स्वयं के खर्चे पर इसे स्थापित किया जाएगा। इसके संचालन में हर साल करीब 37 लाख रुपये का खर्चा आना अनुमानित है। नोएडा प्राधिकरण इस खर्चे का 50 फीसद वहन करेगा।