नोएडा-गाजियाबाद पुलिस में बढ़ी तकरार, नोएडा पुलिस नोटिस लेकर पहुंची इंदिरापुरम थाने, नहीं किया रिसीव


नोएडा ब्यूरो। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की टीम पर एटीएम हैकर को छोड़ने के आरोप के बाद नोएडा और गाजियाबाद पुलिस के बीच तकरार बढ़ गई है। गढ़ी चौखंडी से अगवा कर एक शख्स से दस लाख रुपये के चेक पर हस्ताक्षर कराने के मामले में नोएडा पुलिस जब इंदिरापुरम थाने नोटिस लेकर गई तो वहां इसे रिसीव करने से मना कर दिया गया। नोएडा पुलिस के अनुसार, पिछले माह गढ़ी चौखंडी निवासी लीलू ने फेज थ्री पुलिस से शिकायत की थी कि गढ़ी गांव निवासी राजेंद्र यादव, उसका बेटा अमित यादव और चार अज्ञात पुलिसकर्मी इंदिरापुरम थाने की गाड़ी से उनके घर आए थे।
ये लोग लीलू, उसके भाई सलेक चंद और भतीजे जितेंद्र को जबरन गाड़ी में बिठाकर इंदिरापुरम थाने ले गए और वहां पांच-पांच लाख रुपये के दो चेक पर जबरन हस्ताक्षर करवा लिए। इस मामले में कोतवाली फेज थ्री पुलिस ने राजेंद्र यादव, अमित यादव समेत चार अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी।
मामले की जांच के दौरान मंगलवार को कोतवाली फेज थ्री से एक पुलिसकर्मी नोटिस लेकर इंदिरापुरम थाने गया था। इसमें घटना के दिन की जानकारी मांगी गई थी कि आपके थाने के कौन-कौन पुलिसकर्मी सरकारी वाहन से नोएडा आया था। साथ ही, सीसीटीवी फुटेज से लेकर पुलिसकर्मियों से संबंधित अन्य जानकारी की मांग की गई थी, लेकिन इंदिरापुरम पुलिस ने फेज थ्री पुलिस के नोटिस रिसीव ही नहीं किया।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर