पीएम मोदी की रैली के दौरान कार में तोड़फोड़ कर फैलाना चाहते थे दहशत


कानपुर,(उत्तर प्रदेश)। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जो रणनीति बनाई थी, अब वह उन्हीं पर भारी पड़ गई है। कार्यकर्ताओं की ओर से पीएम नरेंद्र मोदी की कानपुर में रैली के दौरान हंगामा मचाने की कोशिश थी। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने एक वाहन से तोड़फोड़ की। इसका वीडियो खूब वायरल हुआ। इस वाहन पर भाजपा का झंडा लगा था। वीडियो के सामने आने के बाद भाजपा नेताओं की ओर से भी प्रतिक्रिया सामने आई।
मामला बढ़ा तो खुलासा हैरान करने वाला था। समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने एक सपा कार्यकर्ता की गाड़ी पर भाजपा का झंडा लगाकर तोड़फोड़ की थी। मामला खुलने के बाद हंगामा मच गया। पुलिस ने भी इस मामले में समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर माहौल को खराब करने की कोशिश का आरोप लगाया है। उनकी गिरफ्तारी की गई है। सपा कार्यकर्ताओं के कृत्य पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पहले ही कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी। मामला खुलने के बाद पार्टी की ओर से इस घटना में शामिल आरोपी कार्यकर्ताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।
कानपुर मामला गरमाने के बाद समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दोषी कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई का निर्देश दिया। समाजवादी पार्टी ने अखिलेश के निर्देश पर पांच कार्यकर्ताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। यह पांचों कार्यकर्ता चिन केसरवानी, अंकर पटेल, अंकेश यादव, सुकान्त शर्मा तथा सुशील राजपूत हैं। इससे पहले इन सबके करतूतों का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने इनको गिरफ्तार किया है। समाजवादी महिला सभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष जूही सिंह ने भी कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की पुष्टि की है।
पुलिस की ओर से जानकारी दी गई है कि वायरल वीडियो के आधार पर इन पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य की तलाश जारी है। पुलिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के दौरान हमीरपुर सागर रोड पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पीएम के कार्यक्रम का विरोध करते हुए पुतला दहन किया। इसके बाद भाजपा के बैनर लगी ऑल्टो कार पर पत्थरबाजी की। इसका वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने एक्शन लिया और आरोपियों की पहचान करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर