मंडोली जेल से गैंगस्टर का गुर्गा चला रहा रंगदारी का रैकेट


दिल्ली ब्यूरो। गैंगस्टर नीरज बवानिया के गुर्गे के मंडोली जेल से रंगदारी रैकेट चलाने का खुलासा ‌हुआ है। क्राइम ब्रांच ने उसके निर्देश पर रंगदारी वसूलने वाले 3 बदमाशों को ‌‌गिरफ्तार ‌किया है। उनकी पहचान लक्ष्मी नगर ‌के अभिषेक मसीह, द‌क्षिणपुरी के रो‌हित ‌सिंह और संगम ‌विहार के ‌शिब्बू के रूप में हुई। आरोपियों ने लाजपत नगर के एक प्रॉपर्टी डीलर से 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। जांच में खुलासा हुआ ‌कि जेल में बंद बदमाश ‌बिल्डर और कारोबारी से रंगदारी के कॉल कर रहा था और गैंग के बदमाश बाहर धमकी दे रहे थे।
अडिशनल डीसीपी (क्राइम) धीरज कुमार ने बताया ‌कि ‌ईस्ट ऑफ कैलाश के जसमीत ‌सिंह रीयल एस्टेट का कारोबार करते हैं। उनका ऑफिस लाजपत नगर में है, जिन्हें 23 नवंबर को एक अनजान नंबर से कॉल आया। उन्होंने फोन काट ‌दिया तो एक मेसेज आया, जिसमें ‌लिखा था, 'भाई मैं नहीं, अब आप खुद फोन करोगे।' मेसेज को अनदेखा कर ‌दिया। ऑफिस में 25 नवंबर को एक युवक ‌‌पिस्टल और फोन लेकर आया। ऑफिस में उनके पार्टनर और एक कर्मचारी मौजूद थे। युवक ने उनके पार्टनर से फोन पर बात करने के ‌लिए कहा। दोनों ने युवक को रोकने की कोशिश की। इस हाथापाई में पिस्टल गिर गई, लेकिन आरोपी भाग गया।
जसमीत ने बताया कि कॉलर ने खुद को गैंगस्टर प्रवीण सभरवाल बताते हुए 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी। रकम नहीं देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी। पु‌लिस ने केस दर्ज किया और ऑफिस के सीसीटीवी कैमरे में कैद बदमाश की पहचान करने में जुट गई। पुलिस ने इसके आधार पर बदमाश अभिषेक मसीह को लक्ष्मी नगर से ‌गिरफ्तार कर ‌लिया। आरोपी ने बताया ‌कि वह रो‌हित ‌सिंह के साथ गया था, जिसे शेख सराय से ‌अरेस्ट कर ‌लिया गया। पु‌लिस ने इससे ‌पिस्टल और फोन बरामद कर ‌लिया। पूछताछ में बताया ‌कि मर्डर केस में जेल में बंद आकाश ने अ‌भिषेक को रंगदारी मांगने के निर्देश ‌दिए थे। आकाश जेल में बंद नीरज बवा‌निया गैंग के एक लाख के इनामी बदमाश प्रवीण सभरवाल के साथ ‌रंगदारी का रैकेट चला रहा है।
पु‌लिस ने यह भी पता चला ‌कि आकाश ने संगम ‌विहार के ‌शिब्बू को बदमाशों को ह‌थियार सप्लाई के ‌लिए कहा था। पु‌लिस ने पेशे से ऑटो ड्राइवर ‌शिब्बू को भी ‌गिरफ्तार कर ‌‌लिया। पु‌लिस अफसरों का कहना है ‌कि बदमाशों के बयान और टेक्निकल सर्विलांस के ज‌रिए जेल में बंद बदमाशों और जेलक‌र्मियों की सं‌लिप्तता की भी जांच की जा रही है। जल्द ही इस मामले में और भी ‌गिरफ्तारी हो सकती है।
जांच में पता चला‌ ‌कि अभिषेक अक्टूबर में ही जेल से जमानत पर आया। गाड़ी चोरी, लूटपाट और झपटमारी के 40 मामले दर्ज हैं। रो‌हित पर गैंगरेप के अलावा दो चोरी के केस दर्ज हैं। वह साकेत के मैक्स अस्पताल के पास ‌प्राइवेट एंबुलेंस चलाता है। शिब्बू लूटपाट के एक मामले में शा‌मिल है और पेशे से ऑटो ड्राइवर है। वह जेल में बंद आकाश के टच में रहता है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर