गाजियाबाद के आधार सेवा केंद्र पर सैकड़ों की भीड़, कोरोना प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां


गाजियाबाद ब्यूरो। कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन के खतरों के बीच उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भीड़ का भयावह नजारा दिखाई दे रहा है। गाजियाबाद की जीटी रोड की पंचवटी कॉलोनी के आधार सेवा केंद्र पर हर रोज सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट रही है। सुबह 6 बजे से ही यहां लोग लाइनों में लगना शुरू हो जाते हैं। हैरानी की बात ये है कि हर दिन तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों के बाद भी यहां न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है और न ही लोग मास्क लगाए दिखते हैं। बता दें कि उत्तर प्रदेश में ओमीक्रोन के 4 मामले सामने आ चुके हैं।
बताया गया कि केंद्र पर जमा भीड़ में कोई आधार कार्ड में नाम बदलवाने के लिए खड़ा है। कोई पता और उम्र में सुधार करवाना चाहता है। किसी को नया आधार बनवाना है। कुछ श्रम कार्ड बनवाने आए हैं। बैंकों के काउंटर में यह काम हो जाते हैं, लेकिन लोगों की शिकायत है कि 10-15 कार्ड निपटाकर वहां दो महीने तक की वेटिंग का टोकन थमा दिया जाता है। इसके बाद इस केंद्र के बाहर लाइन लगाना ही अकेला रास्ता बचता है।
दरअसल, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 10वीं किस्त पहली तारीख को जारी होना है। इस बीच सरकार ने सभी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि लाभार्थियों के लिए EKYC अनिवार्य कर दिया गया है लेकिन यहां पर समस्या यह आ रही है कि सभी किसानों का फोन नंबर उनके आधार से नहीं जुड़ा है। जानकारी के मुताबिक, क‍िसान सम्‍मान न‍िध‍ि पाने वालों के ल‍िए आधार का वेर‍िफ‍िकेशन जरूरी है। ज‍िन्‍होंने यह नहीं कराया उनका पैसा रुक जाएगा। इसके ल‍िए बायोमैट्र‍िक जरूरी क‍िया गया है, जिसकी वजह से आधार सेंटरों पर लोग जमा हो रहे हैं।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर